CHHATTISGARH featured POLITICS 

छत्तीसगढ़ / चौथी सीट पर सस्पेंस, एक अनार-सौ बीमार

रायपुर. राजधानी की एक सीट का सस्पेंस खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। बीजेपी ने दूसरे चरण की सीटों को तय करते समय इस सीट को छोड़ दिया। अब सीट से नाम फाइनल नहीं हुआ तो नेताजी की धड़कन भी बढ़ गई। पहली बार श्रीचंद सुदरानी को सिंधी होने का फायदा मिला, टिकट और जीत दोनों मिली। इस बार भी उत्साहित थे, लेकिन अब हाव-भाव में निराशा नजर आ रही है। हालांकि अभी भी वे हर दरबार तक पहुंचने की कोशिश में जुटे हुए हैं।   दावेदारों में…

Read More
CHHATTISGARH featured POLITICS 

इस बार पलट जाएगी बस्तर की बाजी- मुख्यमंत्री रमन सिंह

9 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जगदलपुर से चुनावी अभियान में सभाएं लेंगे पीएम मोदी मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के चुनावी रण राजनांदगांव में भी सभाएं लेंगेरायपुर. मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दावा किया है कि इस बार भाजपा बस्तर में बाजी पलट देगी। मिशन 65 प्लस का लक्ष्य जरूर प्राप्त करेगी। बस्तर में कांग्रेस की चुनौती पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सुकमा में हमारा मजबूत काम हुआ है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शनिवार को बस्तर से चुनावी बिगुल फूंक दिया। वे यहां चार विधानसभाओं में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे…

Read More
CHHATTISGARH featured POLITICS 

सीडी कांड में शिकायत दर्ज कराने वाले भाजपा नेता पर ठगी का आरोप, सुनवाई आगे बढ़ी

बिलासपुर. सीडी कांड में मामला दर्ज कराने वाले भाजपा नेता प्रकाश बजाज के खिलाफ महिला ने थाने में धोखाधड़ी की शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं होने पर हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। शुक्रवार को मामले में दो सप्ताह के लिए सुनवाई बढ़ा दी गई है।   रायपुर के तेलीबांधा थाने में किरण मगर ने कथित सीडी कांड मामले में थाने में शिकायत दर्ज करवाने से चर्चित रहे भाजपा नेता प्रकाश बजाज के खिलाफ मकान बेचने के नाम पर 10 लाख रुपए की ठगी का आरोप लगाया है। हाईकोर्ट में लगाई…

Read More
CHHATTISGARH featured POLITICS 

सिम्स बना रेफरल सेंटर, 30 दिनों में 102 मरीजों को भेज दिया गया दूसरे अस्पताल

सिम्स रेफरल सेंटर बनता जा रहा है। यहां सीनियर और काबिल डॉक्टर होने के बाद भी मरीजों का इलाज करने के बजाय उन्हें… सिम्स रेफरल सेंटर बनता जा रहा है। यहां सीनियर और काबिल डॉक्टर होने के बाद भी मरीजों का इलाज करने के बजाय उन्हें निजी अस्पतालों का रास्ता दिखाया जा रहा है। इसमें डॉक्टर से लेकर कर्मचारियों तक का कमीशन होता है। 30 दिनों के भीतर ऐसे ही 102 मरीजों को सिम्स से दूसरे अस्पताल भेज दिया गया। सिम्स में रोज 1200-1400 मरीज पहुंचते हैं, यहां 672 बेड…

Read More
CHHATTISGARH featured National News POLITICS 

बड़ी वारदात की ताक में नक्सली, बकरकट्टा और बुकरमका इलाके में मूवमेंट; हाई-अलर्ट

पुलिस को दोनों ही हिस्सों में नक्सलियों के मूवमेंट की लगातार सूचना मिल रही है नक्सलियों के जनमिलिशया सदस्यों व स्मॉल एक्शन टीमों के भी सक्रिय होने की खबर चुनाव के दौरान किसी घटना को अंजाम देने की आशंका, पुलिस का ज्वॉइंट ऑपरेशन शुरू राजनांदगांव. विधानसभा चुनाव में नक्सली वारदात को अंजाम देने की तैयारी में हैं। नाॅर्थ जोन में बकरकट्टा से लेकर बालाघाट बाॅर्डर के हिस्से और साउथ जोन में बुकमरका से लेकर गढ़चिरौली तक बड़ी संख्या में इनकी मौजूदगी देखी गई है। इसके बाद से पुलिस ने इंटर स्टेट आॅपरेशन शुरू किया है।…

Read More
CHHATTISGARH featured POLITICS 

चुनाव विश्लेषण / कांग्रेस और भाजपा में अब फर्क कहां? सरकार पर ‘लदने’ की राजनीति

भाजपा में सत्ता के वो सभी रोग आए जो कभी कांग्रेस में होते थे  असंतोष के स्वर भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं देश में 15 वर्षों से सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशियों की घोषणा होते ही असंतोष के उठते स्वर चाल-चरित्र-चेहरे वाली पार्टी के लिए शुभ संकेत नहीं हैं। शायद इसका मूल कारण 15 वर्षों में चाल, चरित्र, चेहरा बदल जाना है। आज भाजपा में सब-कुछ कांग्रेस जैसा ही है और कहीं-कहीं संगठित रूप में भी दिखाई देता है, जबकि कांग्रेस में यही काम…

Read More
CHHATTISGARH featured National News POLITICS 

राजनीति में महिलाओं की बढ़ती भागीदारी से खुश हैं रायपुर की पहली महिला विधायक रजनी ताई

किराए के घर में रहीं, रिक्शे का उपयोग किया अब शारीरिक अस्वस्थता से लड़ रही हैं रजनी उपासने रायपुर. रजनी ताई उपासने… 41 साल पहले 1977 में रायपुर की विधायक बनीं। उनके पहले और बाद में कोई भी महिला यहां से विधायक नहीं बन सकी। आरएसएस, जनसंघ, जनता पार्टी और अब भाजपा में ताई कहने से ही दो ही महिलाओं की तस्वीर सामने आती है। एक रजनी ताई और दूसरी इंदौर की सुमित्रा महाजन (लोकसभा अध्यक्ष) की। 85 साल की ताई ने एक ही चुनाव लड़ा, लेकिन लोगों से इस तरह…

Read More
CHHATTISGARH featured POLITICS 

नक्सल दहशत / इन 5 गांवों में नहीं जाते राजनीतिक दल, ग्रामीणों ने यहां न चुनावी शोर सुना न प्रत्याशी देखा

यहां मतदान से ज्यादा लोगों की जिंदगी का सवाल, नहीं जाता सरकारी महकमा राजनांदगांव. चुनावी शोर, प्रत्याशियों की धमक, दलों के वादे और दावे जीत पर आतिशबाजी… चुनाव में मतदाताओं को रोज इनसे दो-चार होना पड़ता है। वहीं नक्सल प्रभावित सुदूर गांवों में ऐसा नजारा मुमकिन नहीं है। यहां जिंदगी की सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं रहती। कुछ ऐसे ही पांच गांवों की तस्वीर जहां मतदाताओं की दिलेरी ने लोकतंत्र को जिंदा रखा है। बुकमरका: पांच किमी दूर पैदल जाते हैं मतदान करने  मोहला-मानपुर विधानसभा का सबसे आखिरी छोर का गांव…

Read More