Mon. Feb 25th, 2019

WC 2019: ‘अगर हम पाकिस्तान को नहीं हराते तो वर्ल्ड कप ट्रॉफी का क्या मजा’

आकाश चोपड़ा ने कहा, ‘यदि भारत पाकिस्तान से नहीं खेलता तो भारत के लिए वर्ल्ड कप ट्रॉफी का क्या अर्थ रह जाएगा। खासकर यदि भारत पाकिस्तान को नहीं हराता है।’ 

पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने पुलवामा हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद विश्व कप (ICC world Cup 2019) में पाकिस्तान का बहिष्कार करने पर अपनी राय दी है। भारत-पाकिस्तान (India vs Paksitan) के बीच 16 जून को ओल्ड ट्रेफर्ड, मैनचेस्टर में मैच तय है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए इस हमले में सीआरपीएएफ के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए। इसके बाद भारतीयों की राय यही है कि हमेंपाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलना चाहिए। कुछ क्रिकेटरों का भी यही मानना है कि पाकिस्तान के साथ भारत को सारे संबंध खत्म कर लेने चाहिए और क्रिकेट भी नहीं खेलना चाहिए।

सकता है फैसला वहीं, आकाश चोपड़ा ने इंडिया टुडे को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि भारत एक वापस लौट के आने वाला देश है। इसलिए राजनीति और खेलों को मिक्स नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘यदि भारत पाकिस्तान से नहीं खेलता तो भारत के लिए वर्ल्ड कप ट्रॉफी का क्या अर्थ रह जाएगा। खासकर यदि भारत पाकिस्तान को नहीं हराता है।’ आकाश चोपड़ा ने कहा, ‘यह अहम सवाल है कि क्या विश्व कप में भारत-पाक के बीच मैच होगा, क्या इसका जवाब हमें अभी चाहिए। अभी आतंकी हमले के जख्म ताजा हैं। पुलवामा में जो कुछ हुआ उससे हम सब भारतवासी दुखी हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हम सब भाववुकता में फैसले करते हैं। इसलिए क्या हमें अभी इस मामले में कोई फैसला लेना चाहिए। मुझे लगता है कि इस पर फैसला लेने का यह सही समय नहीं है।’

भारत-पाक मैच को लेकर VVS लक्ष्मण ने कहा- यह वक्त सेना के साथ खड़े होने का है उन्होंने कहा, ‘हम बदला लेने वाला देश नहीं हैं, बल्कि एक गौरवपूर्ण देश हैं। इसलिए हमें खेलों और राजनीति को अलग करके देखना और सोचना चाहिए। हम पहले से ही पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेल रहे हैं और हम विश्व चैंपियन होना चाहते हैं। यदि हम पाकिस्तान से नहीं खेल कर चैंपियन बनते हैं तो उसका क्या अर्थ होगा।’ बता दें कि आकाश चोपड़ा से पहले हरभजन सिंह ने कहा था कि यदि विश्व कप में भारत पाकिस्तान से खेलता है तो इससे कुछ फर्क नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा था कि कोई भी देश से बड़ा नहीं हो सकता। हरभजन ने कहा था, ‘जब देश का सवाल आता है तो विश्व कप बहुत छोटी चीज है। पुलवामा में मारे गये 40 लोगों की जान की कीमत कौन देगा। हम सब देश के साथ खड़े हैं। यदि हम विश्व कप में पाकिस्तान के साथ नहीं खेलते तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा।’