Sun. May 26th, 2019

वो खिलाड़ी जिसकी कप्तानी में भारत को मिली पहली जीत

भारत को पहली जीत दिलाने वाले कप्तान थे विजय सैमुएल हजारे। भारत को पहली जीत वर्ष 1952 मिली थी। भारतीय क्रिकेट टीम ने अपना पहला टेस्ट 1932 में खेला था।

नई दिल्ली/भारतीय क्रिकेट टीम ने अपना पहला टेस्ट 1932 में खेला, लेकिन उसे जीत के लिए बीस साल इंतजार करना पड़ा और उसे अपनी पहली जीत वर्ष 1952 मिली। भारतीय टीम ने इस मैच में इंग्लैंड को हराया था। भारत को पहली जीत दिलाने वाले कप्तान थे विजय सैमुएल हजारे। हालांकि, यह उनकी कप्तानी में मिली एक मात्र जीत है।

विजय हजारे का जन्म 11 मार्च 1915 को सांगली (महाराष्ट्र) में हुआ था। आजादी के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के वे पहले कप्तान थे। विजय हजारे एक ऑलराउंडर के रूप में भारतीय टीम में आए थे। उन्होंने 31 साल की उम्र में डेब्यू किया था। इसके बावजूद उन्होंने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। 

शानदार बैटिंग रिकॉर्ड

विजय हजारे ने कुल 30 टेस्ट मैच खेले। इसमें उन्होंने 47.65 की बेहतरीन औसत से 2,192 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 7 शतक और 9 हाफ सेंचुरी जड़े। 164 उनका उच्चतम स्कोर रहा। यही नहीं वह भारत की ओर हजार रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज थे। वह टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज। इतना ही नहीं विजय हजारे लगातार तीन टेस्ट मैचों में शतक ठोकने वाले पहले भारतीय थे। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उन्होंने 238 मैच खेले। इसमें 58.38 की बेहतरीन औसत से 18740 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 60 शतक और 73 हाफ सेंचुरी जड़े।

थम श्रेणी में भारत की ओर पहला तिहरा शतक

इंटरनेशनल क्रिकेट में वीरेंद्र सहवाग ने साल 2004 में भारत की ओर पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान में पहला तिहरा शतक जड़ा था। भारतीय की ओर क्रिकेट इतिहास में प्रथम श्रेणी में पहला तिहरा शतक विजय हजारे ने लगाया था। विजय हजारे ने 21 जनवरी 1940 को पूना क्लब ग्राउंड पर महाराष्ट्र की ओर से खेलते हुए बड़ौदा के खिलाफ तिहरा शतक लगाया था। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 50 शतक जड़ने वाले भी पहले भारतीय खिलाड़ी थे।

गेंदबाजी करियर पर नजर

विजय हजारे ने 30 टेस्ट मैच में 20 विकेट लिया। इस दौरान उनका गेंदबाजी में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन 29 रन देकर 4 विकेट रहा। प्रथम श्रेणी क्रिकेट करियर के 238 मैच में उन्होंने 595 विकेट लिए। इस दौरान उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन 90 रन देकर 8 विकेट रहा।

कप्तानी में भारत को मिली पहली जीत

विजय हजारे की कप्तानी में खेलते हुए 1952 में टीम इंडिया ने चेन्नई (मद्रास) में इंग्लैंड के खिलाफ पारी और आठ रन से जीत दर्ज की थी। हालांकि, यह उनकी कप्तानी में मिली एक मात्र जीत है। उन्होंने भारत के लिए 14 मैचों में कप्तानी की।

विजय हजारे ट्रॉफी

विजय हजारे के नाम पर भारतीय घरेलू क्रिकेट में वनडे ट्रॉफी खेली जाती है। ये टूर्नामेंट 2002-03 में शुरू हुआ। इस टूर्नामेंट में रणजी की सभी टीमें हिस्सा लेती हैं।

पद्म श्री से सम्मानित

विजय हजारे और जसु पटेल पद्म श्री से सम्मानित होने वाले पहले क्रिकेट खिलाड़ी थे। उन्हें यह सम्मान 1960 में मिला।