Wed. Apr 10th, 2019

निर्णायक मैच में इस प्लेइंग XI के साथ उतर सकती है टीम इंडिया

 पहला मैच हारने के बावजूद कप्तान रोहित शर्मा ने प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया था। अब तीसरे टी-20 में प्लेइंग इलेवन ऐसी हो सकती है।

भारत ने ऑकलैंड के ईडन पार्क में दूसरा मैच जीत कर टी-20 सीरीज को दिलचस्प बना दिया है। पहले टी-20 में 80 रन से हारने के बाद भी भारत ने दूसरे टी-20 में प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया। अब तीसरा टी-20 ही सीरीज के विजेता का फैसला करेगा। सीरीज का यह निर्णायक मैच हैमिल्टन के बे ओवल मैदान पर खेला जाएगा। यह वही मैदान है, जिस पर भारत ने चौथा टी-20 मैच खेला था। इस मैच में टीम इंडिया 92 रनों पर ही ऑलआउट हो गई थी। अब एक बार फिर 3 मैचों की टी-20 सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला बे ओवल में खेला जाना है। पहला मैच हारने के बावजूद कप्तान रोहित शर्मा ने प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया था। ऐसे में उम्मीद हैं कि अब तीसरे टी-20 मैच में भी टीम इंडिया बिना किसी बदलाव के उसी प्लेइंग इलेवन के साथ उतरेगी। आइए एक नजर डालते हैं कि इस मैच में भारत की प्लेइंग इलेवन पर:

रोहित शर्माः कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा ने दूसरे टी-20 में 29 गेंद पर शानदार अर्द्धशतक जमाकर फॉर्म में वापसी का संकेत दिया है। तीसरे टी-20 में भी रोहित अहम भूमिका निभाएंगे। अगर उनका बल्ला चलता है तो भारत सीरीज में जीत सकता है। दूसरे टी-20 मैच में अर्धशतक जड़कर रोहित शर्मा ने कई बड़े रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिए हैं।

शिखर धवनः शिखर धवन लगातार अच्छी शुरुआत के बावजूद बड़ी पारी नहीं खेल पा रहे हैं। अंतिम और निर्णायक मैच में वह जरूर चाहेंगे कि बड़ी पारी खेल कर टीम को सीरीज जितवाने में अहम भूमिका निभाएंगे। पिछले मैच में उन्होंने 31 गेंदों पर 30 रन की पारी खेली थी। 

दिनेश कार्तिक: पहले टी-20 में केवल 5 रन पर आउट होने वाले दिनेश कार्तिक को दूसरे मैच में बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिला। इसलिए पूरी संभावना है कि तीसरे टी-20 में वह प्लेइंग 11 में खेलेंगे। उन्होंने इस मैच में बड़ी पारी खेलनी होगी। 

महेंद्र सिंह धौनीः धौनी ने पहली टी-20 में 39 रन की पारी खेली थी। दूसरे टी-20 में भी वह 17 गेंदों में 20 रन बनाकर अविजित रहे। लिहाजा वह अंतिम टी-20 में अपनी भूमिका और मजबूत करना चाहेंगे। 

विजय शंकरः पहले टी-20 में विजय शंकर ने अपनी 27 रन की पारी में दो छक्के और दो चौके लगाए थे। दूसरे टी-20 में वह हालांकि केवल 14 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन वह टीम में बने रहेंगे।

हार्दिक पांड्याः दूसरे टी-20 में हार्दिक पांड्या ने एक विकेट लिया था, लेकिन वह लगातार टीम की जरूरत बनते जा रहे हैं। तीसरे टी-20 में वह चाहेंगे कि अपनी भूमिका को और सुनिश्चित करें और टीम में अधिक योगदान दें। 

क्रुणाल पांड्याः पहले टी-20 मैच में खूब रन पिटवाने के बाद दूसरे टी-20 में क्रुणाल पांड्या ने 4 ओवर में 28 रन देकर 3 विकेट लिए। इस शानदार परफॉर्मेंस के लिए उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ गेंदबाज के रूप में उन्होंने टीम में अपनी उपयोगिता साबित की है। तीसरे टी-20 में भी वह प्लेइंग 11 में बने रहेंगे। 

ऋषभ पंतः टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने दूसरे टी-20 में अपनी फॉर्म दिखाते हुए शानदार 40 रन की पारी खेली। 28 गेंदों पर उन्होंने एक छक्का और एक चौका लगाया। उनका भी टीम में बने रहना निश्चित है। 

भुवनेश्वर कुमारः पहले टी-20 में खराब गेंदबाजी के बाद भुवनेश्वर ने दूसरी मैच में शानदार वापसी की। उन्होंने 4 ओवर में 29 रन देकर एक विकेट लिया। भुवनेश्वर तीसरे टी-20 में भारत को अच्छी शुरुआत के बाद डेथ ओवर में अच्छी गेंदबाजी कर सकते हैं। 

खलील अहमदः पहले टी-20 में पिटने के बाद खलील ने दूसरे मैच में अच्छी गेंदबाजी की। उन्होंने 4 ओवर में 27 रन देकर 2 विकेट लिए। टीम प्रबंधन उन्हें तीसरे मैच में भी मौका देना चाहेगा। 

युजवेंद्र चहलः हालांकि, दूसरे टी-20 में युजवेंद्र चहल को कोई विकेट नहीं मिली, लेकिन वह बराबर इकोनॉमिकल गेंदबाज हैं। इसलिए उनका फाइनल टी-20 में प्लेइंग 11 में होना तय है।