Sun. May 26th, 2019

सीबीआई में रिश्वतखोरी को लेकर विवादों में रहे राकेश अस्थाना समेत 3 अफसरों को शीर्ष वेतनमान

राकेश अस्थाना 1984 बैच के गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारीसीबीआई के पूर्व चीफ आलोक वर्मा से टकराव को लेकर सुर्खियों में रहेकेंद्र ने उन्हें 18 जनवरी को सिविल एविएशन सिक्योरिटी ब्यूरो (बीसीएएस) का महानिदेशक बनाया  

नई दिल्ली. पूर्व सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा के साथ टकराव के चलते विवादों में रहे आईपीएस राकेश अस्थाना समेत तीन अफसरों को शीर्ष वेतनमान दिया गया है। अब उनकी सैलरी 2.25 लाख रुपए होगी। यह जानकारी कार्मिक मंत्रालय की ओर से दी गई है। सीबीआई में रिश्वतखोरी विवाद के चलते केंद्र ने अस्थाना को पद से हटा दिया था। फिलहाल वे सिविल एविएशन सिक्योरिटी ब्यूरो (बीसीएएस) के महानिदेशक हैं।

एनआईए और आईटीबी के चीफ का वेतन भी 2.25 लाख रु

  1. मंत्रालय के आदेश के मुताबिक, आईपीएस राकेश अस्थाना, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के प्रमुख वाईसी मोदी और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के महानिदेशक एसएस देसवाल को शीर्ष वेतनमान मिला है। तीनों 1984 बैच के आईपीएस अफसर हैं।
  2. सीबीआई से हटने के बाद अगले दिन नई नियुक्तिकेंद्र सरकार ने अस्थाना को सीबीआई के विशेष निदेशक पद से हटाए जाने के अगले दिन 18 जनवरी को सिविल एविएशन सिक्योरिटी ब्यूरो की जिम्मेदारी सौंपी थी। इस पर अस्थाना की नियुक्ति दो साल के लिए की गई है।
  3. रिश्वतखोरी के आरोप में सीबीआई ने केस दर्ज किया थासीबीआई में रिश्वतखोरी विवाद सामने आने पर केंद्र ने पूर्व डायरेक्टर आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को पिछले साल 23 अक्टूबर को छुट्टी पर भेज दिया था। सीबीआई ने मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में घूस लेने के आरोप में अस्थाना के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसके बाद अस्थाना ने आलोक वर्मा पर रिश्वतखोरी के आरोप लगाए थे।