वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड द्वारा क्वारंटाइन किए गए मुस्लिमों को सहरी और इफ्तारी दी जा रही है।

कोरोना संकट के बीच सांप्रदायिक सौहार्द की खबरें सामने आ रही है। एक तरफ पूरे देश में कोरोना के कारण लॉकडाउन लागू है। वहीं दूसरी ओर रमजान का पावन महीना भी चल रहा है। इसी बीच माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड द्वारा क्वारंटाइन किए गए मुस्लिमों को सहरी और इफ्तारी दी जा रही है। कटरा के आशीर्वाद भवन में रह रहे 500 मुसलमानों को सहरी और इफ्तारी प्रदान की जा रही है।

आशीर्वाद भवन को क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील किया गया 
कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जम्मू के कटरा स्थित आशीर्वाद भवन को क्वारंटाइन सेंटर में बदलने का फैसला लिया गया था।श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि रमजान के इस पावन पर्व में श्राइन बोर्ड के लोग लगातार लोगों तक मदद पहुंचा रहे हैं। उनका कहना है कि क्वारंटाइन किए गए मुस्लिमों को पर्व में कोई बाधा न आए इसलिए उन्हें सेहरी और इफ्तारी प्रदान की जा रही है।

अनेक स्थानों से लोगों को वापस लाया जा रहा है 
गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर प्रशासन देश के अनेक हिस्सों में फंसे लोगों को वापस ला रही है। जो लोग अन्य राज्यों से वापस आ रहे हैं उन्हें क्वारंटाइन किया जा रहा है। रमेश कुमार ने बताया कि जो लोग बाहर से आ रहे हैं उनमें से अधिकतर लोग मुस्लिम वर्ग से ताल्लुक रखते हैं और रमजान में रोजा रखे हैं। इसीलिए बोर्ड ने उनके लिए हर रोज सेहरी और इफ्तारी का खास प्रबंध किया है। बता दें, श्री माता वैष्णो देवी तीर्थ सबसे प्रतिष्ठित हिंदू तीर्थस्थलों में से एक है और भारत में तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम के बाद दूसरा सबसे अमीर भी है।