Sun. May 26th, 2019

मुशर्रफ ने कहा- पाक ने एक भी परमाणु बम दागा तो भारत हमें 20 बमाें से तबाह कर देगा

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा- बेहतर होगा कि पाक पहले ही भारत पर 50 एटम बम गिरा देमुशर्रफ ने कहा- पुलवामा हमले के बाद दोनों देशों के रिश्ते खतरनाक स्तर पर

यूएई. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ ने कहा है कि पाक ने भारत पर एक भी परमाणु बम दागा तो वह हमें 20 परमाणु बमों से नेस्तनाबूद कर सकता है। उन्होंने कहा कि पुलवामा के बाद दोनों देशों के संबंध खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके हैं, लेकिन फिलहाल एटमी जंग का खतरा नहीं है।

‘क्या पाक 50 एटम बम भारत पर गिराने को तैयार’ 

  1. यूएई में मीडिया से उन्होंने यह भी कहा कि पाक खुद को सुरक्षित करना चाहता है तो बेहतर रहेगा कि वह पहले ही 50 एटम बम गिराकर भारत को खत्म कर दे। उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि क्या पाक 50 एटम बम भारत पर गिराने को तैयार है?
  2. परवेज मुशर्रफ का बयान पुलवामा हमले के एक सप्ताह बाद आया है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली थी।  
  3. जनरल ने कहा- इमरान कैबिनेट के आधे मंत्री उनके अपनेपूर्व जनरल ने कहा कि उनके पाकिस्तान लौटने के लिए यह सही समय है। राजनीतिक माहौल उनके अनुकूल है। इमरान कैबिनेट के आधे मंत्री उनके खेमे के हैं। कानून मंत्री और अटार्नी जनरल उनके वकील रह चुके हैं। मुशर्रफ का कहना था कि इजरायल उनके देश के साथ फिर से संबंध बनाना चाहता है। 
  4. मुशर्रफ ने तख्तापलट के जरिए 1999 में सत्ता हथियाई थी। तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बेदखल करके वह पाक के राष्ट्रपति बने थे। हालांकि, नौ साल बाद उन्हें भी सत्ता गंवानी पड़ी। निर्वासन के बाद अभी वह यूएई में रह रहे हैं। 

‘क्या पाक 50 एटम बम भारत पर गिराने को तैयार’

  1. यूएई में मीडिया से उन्होंने यह भी कहा कि पाक खुद को सुरक्षित करना चाहता है तो बेहतर रहेगा कि वह पहले ही 50 एटम बम गिराकर भारत को खत्म कर दे। उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि क्या पाक 50 एटम बम भारत पर गिराने को तैयार है?
  2. परवेज मुशर्रफ का बयान पुलवामा हमले के एक सप्ताह बाद आया है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली थी।  
  3. जनरल ने कहा- इमरान कैबिनेट के आधे मंत्री उनके अपनेपूर्व जनरल ने कहा कि उनके पाकिस्तान लौटने के लिए यह सही समय है। राजनीतिक माहौल उनके अनुकूल है। इमरान कैबिनेट के आधे मंत्री उनके खेमे के हैं। कानून मंत्री और अटार्नी जनरल उनके वकील रह चुके हैं। मुशर्रफ का कहना था कि इजरायल उनके देश के साथ फिर से संबंध बनाना चाहता है। 
  4. मुशर्रफ ने तख्तापलट के जरिए 1999 में सत्ता हथियाई थी। तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बेदखल करके वह पाक के राष्ट्रपति बने थे। हालांकि, नौ साल बाद उन्हें भी सत्ता गंवानी पड़ी। निर्वासन के बाद अभी वह यूएई में रह रहे हैं।