Sun. Apr 7th, 2019

पाकिस्तान /सुप्रीम कोर्ट ने इलाज के लिए नवाज शरीफ को जमानत दी, लेकिन देश से बाहर नहीं जा पाएंगे

चीफ जस्टिस आसिफ सईद खोसा ने कहा- देश में रहकर किसी भी अस्पताल से इलाज करा सकते हैंभ्रष्टाचार के मामले में पिछले साल दिसंबर से लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद हैं शरीफ

लाहौर. जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (69) को इलाज के लिए सुप्रीम कोर्ट से 6 सप्ताह की जमानत मिली है। हालांकि, अदालत ने शरीफ के देश छोड़ने पर रोक जारी रखी है।शरीफ पिछले साल दिसंबर से लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद हैं। अल-अजीजिया स्टील मिल्स मामले में उन्हें सात साल की सजा सुनाई गई थी।

शरीफ 3 बार प्रधानमंत्री रहे, लेकिन इमरान खान उनकी स्वास्थ्य को लेकर कोई ध्यान नहीं दे रहे : परिजन

  1. सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच ने शरीफ की अपील पर सुनवाई की। इसके बाद बेंच ने शरीफ को इलाज कराने के लिए 6 सप्ताह का समय दिया। आदेश में स्पष्ट है कि शरीफ देश में रहकर जहां चाहें इलाज करा सकते हैं।
  2. जमानत मिलने पर शरीफ ने अदालत का शुक्रिया अदा किया। हालांकि, उनके परिजन प्रधानमंत्री इमरान खान से नाराज हैं। उनका आरोप है कि शरीफ 3 बार देश के प्रधानमंत्री रह चुके हैं, लेकिन इमरान उनकी सेहत को लेकर कोई ध्याान नहीं दे रहे हैं।
  3. 700 करोड़ रुपए से खोली थी अल अजीजिया स्टील मिल्सराष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने शरीफ और उनके परिजनों के खिलाफ अल अजीजिया स्टील मिल्स मामले में केस दर्ज किया था। शरीफ के पिता मोहम्मद शरीफ ने 2001 में सऊदी अरब में 700 करोड़ रुपए में अल अजीजिया स्टील मिल्स खोली थी।
  4. शरीफ परिवार का कहना है कि इसके लिए सऊदी सरकार से उन्हें कर्ज मिला था। इसके बदले एक संपत्ति गिरवी रखी गई थी। एनएबी का कहना है कि मिल की स्थापना पाकिस्तान में जुटाए गए कालेधन से की गई थी।
  5. भ्रष्टाचार के तीन केस, दो में सजा, एक में बरी शरीफ पर भ्रष्टाचार के तीन केस थे। एवेनफील्ड प्रॉपर्टीज केस, फ्लैगशिप इनवेस्टमेंट केस और अल-अजीजिया स्टील मिल्स केस। एनएबी कोर्ट एवेनफील्ड प्रॉपर्टीज केस में पहले ही शरीफ को 11 साल की सजा सुना चुकी है। कोर्ट ने फ्लैगशिप इनवेस्टमेंट केस में उन्हें बरी कर दिया। अल-अजीजिया स्टील मिल्स केस में 7 साल की सजा सुनाई गई है।