पत्रकारिता की धौंस दिखाना पड़ा महंगा, एट्रोसिटीज़ तथा अन्य धाराओं में मामला दर्ज।

गरियाबंद 16 मई। ग्राम टिकरापारा थाना देवभोग निवासी हरिशंकर मांझी की शिकायत पर पुरुषोत्तम पात्र पिता सुन्दर लाल के विरुद्ध अजाक थाना गरियाबंद में एट्रोसिटीज़ एक्ट तथा अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पूरा मामला सोशल मीडिया में हरिशंकर मांझी द्वारा की गई एक पोस्ट को लेकर उपजा है। हरिशंकर की पोस्ट पुरुषोत्तम पात्र को इतनी नागवार गुजरी की उसने हरिशंकर का रास्ता रोककर उसे माफी मांगने के लिए धमकी देते हुये, आवेश में कालर पकड़कर हाथ झापड़ से उसे मारा और जाति सूचक गालियां देते हुए कहा कि “तू नही जानता मेरी पंद्रह साल की पत्रकारिता है।”

हरिशंकर मांझी के द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार उक्त व्यक्ति अपनी अमीरी और पत्रकारिता के दबाव में मुझे मानसिक रूप से भी प्रताड़ित किया है।

विदित हो की इससे पूर्व भी 12 मई को देवभोग पुलिस द्वारा, तस्करी करते करीब पंद्रह लीटर अंग्रेजी शराब जप्त की गई थी। इस मामले में भी पुरुषोत्तम पात्र की संलिप्तता उजागर हुई है। देवभोग पुलिस द्वारा 12 मई को खुटगांव से सेन्दमुड़ा के रास्ते पर मोटरसाइकिल में दो पेटी शराब ओडिसा ले जाते दो व्यक्तियों को रोका गया था, जिसमे से एक व्यक्ति फरार हो गया और एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार व्यक्ति ने पुलिस को अपना नाम टिकेश्वर विश्वकर्मा पिता भगतराम बताया जबकि शराब और मोटरसाइकिल पुरुषोत्तम पात्र का होना बताया।