कोरोना संक्रमण की रोकथाम में स्वास्थ्य विभाग का दायित्व सबसे अधिक है-कलेक्टर श्री भीम सिंह

सभी अधिकारी-कर्मचरी अपने मुख्यालय पर उपस्थित रहें

जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक संपन्न

रायगढ़ 16 जून 2020:- कलेक्टर श्री भीम सिंह की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। समीक्षा बैठक में जिले के सभी अस्पतालों के चिकित्सकों तथा चिकित्सा केन्द्र प्रभारियों को संबोधित करते हुए कलेक्टर श्री भीम सिंह ने कहा कि वर्तमान में कोरोना महामारी की रोकथाम और इससे प्रभावित मरीजों की देखभाल और उचित इलाज की अहम जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की है क्योंकि इससे प्रभावितों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। जिले में कोरोना पॉजिटिव पाये गये व्यक्तियों में सबसे अधिक संख्या सारंगढ़ क्षेत्र से आ रही है क्योंकि यहां आने वाले प्रवासी मजदूर काफी बढ़ी संख्या में अन्य राज्यों से आये है, इसलिए सैंपलिंग सारंगढ़ क्षेत्र के क्वारेंटीन सेंटरों से अधिक संख्या में लेकर जांच हेतु भेजे। साथ ही जिले के अन्य क्षेत्रों से भी प्रतिदिन 300 के आसपास सेम्पल प्रतिदिन जांच हेतु भेजे जाये।

कलेक्टर श्री सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि क्वारेंटीन सेंटरों में रहने वाले व्यक्तियों को इस बात से स्पष्ट रूप से अवगत करा दें कि उनकी रिपोर्ट प्राप्त होने तक उन्हें क्वारेंटीन सेंटरों में ही रहना है और जांच रिपोर्ट आने के बाद यहां से जाकर अपने-अपने घरों में 14 दिन का होम क्वारेंटीन अवधि व्यतीत करना होगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव-गांव में होम क्वारेंटीन में रह रहे व्यक्तियों की निगरानी करें कोई व्यक्ति घर पर नहीं पाया जाता है तो इसकी सूचना पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को दी जाये। स्वास्थ्य विभाग की टीम के पास अन्य राज्यों से हवाई सेवा तथा रेल मार्ग से आने वाले व्यक्तियों का पूरा विवरण उपलब्ध हो रहा है। ऐसे व्यक्तियों को भी 14 दिन होम क्वारेंटीन में रहना है यदि कोई व्यक्ति इस शासकीय नियम (गाइड लाइन)का उल्लंघन करता है या घर से बाहर निकलकर घूमता है तो उसके विरूद्ध तुरंत एफआईआर दर्ज की जाएगी, क्योंकि उसके इस प्रकार की लापरवाही से उसके निवास के क्षेत्र या पूरे गांव सहित सभी व्यक्तियों के संक्रमित होने का खतरा बढ़ जायेगा।

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों को इस कोरोना की रोकथाम के दौरान पिछले तीन माह में किये गये कार्यों की प्रशंसा करते हुए इस बात के लिए सचेत भी किया कि प्रत्येक अधिकारी और उनके अधीनस्थ कर्मचारी अपने मुख्यालयों पर ही रहे और मेाबाइल फोन चालू रखे तथा अन्य संबंधित प्रशासनिक और पुलिस विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों के साथ समन्वय तथा टीम भावना से कार्य करें। उन्होंने यह भी कहा कि केन्द्र और राज्य शासन द्वारा जारी निर्देशों (गाइड लाइन)का शत-प्रतिशत पालन करना सुनिश्चित करें।

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने जिले के स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की प्राथमिकता कार्यों में यह सम्मिलित है कि प्रदेश के सभी नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो विशेषकर ग्रामीण और सुदूर अंचल के व्यक्तियों जहां स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है वहां भी स्वास्थ्य सुविधा का विस्तार कर अस्पताल प्रारंभ किये गये है। अत: इन स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ ग्रामीणों को मिले यह सुनिश्चित करें।

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने गर्भवती महिलाओं की निरंतर जांच, खून की कमी, सिकलसेल तथा टीकाकरण अभियान जैसे कार्यक्रमों में अधिक से अधिक लोगों की जांच करके निर्धारित लक्ष्य हासिल करने के निर्देश दिए। प्रत्येक चिकित्सक अपने-अपने अस्पतालों में ब्लड जांच, एक्स-रे, इसीजी की सुविधा तथा अस्पताल भवन का नवीनीकरण, परिसर, अस्पताल वार्ड तथा वहां के शौचालयों की साफ-सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने यह भी कहा कि जिन अस्पतालों के भवन मरम्मत की आवश्यकता है या नया भवन निर्माण कराया जाना है उसका प्रस्ताव तैयार कर शीघ्र भेजें। उन्होंने आगे कहा कि बरसात प्रारंभ हो गया है सांप निकलने और डसने की संभावना ज्यादा रहती है इसलिए इसके इलाज के लिए दी जाने वाली दवाईयां (एन्टी स्नेक वेनम)की उपलब्धता सुनिश्चित करें।

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने मुख्यमंत्री हाट-बाजार योजना के अंतर्गत साप्ताहिक हाट-बाजारों में स्वास्थ्य विभाग की टीम की अनिवार्य उपस्थिति और अधिक से अधिक ग्रामीणजनों की चिकित्सा जांच करने के लिए निर्देशित किया क्योंकि अधिकतर ग्रामीण विशेषकर महिलायें अपने कार्यों में व्यस्तता के कारण अस्पताल नहीं जा पाती इसलिए उन्हें स्वास्थ्य जांच के लिए बढ़ावा दिया जाना चाहिये। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम कोरोना संक्रमण रोकने के उपाय, मॉस्क लगाना और साफ-सफाई तथा सोशल डिस्टेंसिंग के लिए भी जागरूकता अभियान चलाये।

समीक्षा बैठक में सीएमएचओ डॉ.एस.एन.केशरी ने पिछले दिनों की स्वास्थ्य विभाग की क्षेत्रवार उपलब्धियों का विस्तृत ब्यौरा पॉवर पाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्रस्तुत किया। समीक्षा बैठक में एडीएम श्री राजेन्द्र कुमार कटारा, सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी सहित जिले के सभी बीएमओ तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।