Mon. Aug 19th, 2019

इंडस्ट्री की चुप्पी पर कंगना बोली ‘झांसी की रानी मेरी चाची नहीं है’

‘मणिकर्णिका द क्वीन ऑफ झांसी’ की फिल्म की बात दर्शकों ने की और क्रिटिक्स ने। फिल्मी इंडस्ट्री के बड़े नाम तो इस फिल्म से ऐसे अनजान बने जैसे यह रिलीज ही नहीं हुई है। फिल्म के पहले निर्देशक क्रिश ने भी इस फिल्म को लेकर बातें की और कंगना पर सारा क्रेडिट ले उड़ने का आरोप लगाया। इस पर इंडस्ट्री चुप रही और कंगना को लेकर कुछ नहीं बोली। ऐसे में एक इंवेट में जब कंगना से इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने अपने अंदाज में इसका जवाब दिया।

कंगना ने कहा है ‘अगर ये लोग मेरे बारे में बात करते तो इसका मुझे कोई फायदा नहीं होना.. क्योंकि 31 की उम्र में ही मेरे पास चार नेशनल अवॉर्ड हैं। लेकिन मेरा सवाल यह है कि झांसी की रानी क्या मेरी चाची है! वो जितनी आपकी हैं उतनी ही मेरी हैं। उनके बारे में तो बात हो सकती है। मैंने नेपोटिज्म के बारे में अपने विचार रखे तो ये लोग हिल गए। उन्होंने मेरे खिलाफ गैंग बना ली है।’

बता दें कि कंगना की फिल्म लागत वसूली से दूर है। डिजीटल और टीवी राइट्स हटा दें तो यह फिल्म सिनेमाघरों से अपनी लागत वसूलती नहीं दिख रही है। यह भी लगभग तय है कि इस फिल्म की कमाई अब 100 करोड़ के पार नहीं जाने वाली।

‘मणिकर्णिका’ फिल्म रानी लक्ष्मीबाई के जीवन पर है, जिसमें बचपन की मनु के झांसी की रानी बनने और अंग्रेजों से मुकाबला करने की पूरी कहानी दिखाई जा रही है। कंगना ‘मणिकर्णिका’ बनी हैं जिन्होंने एक्टिंग के साथ इस फिल्म के कई सारे डिपार्टमेंट भी संभाले। यह हिंदी के अलावा तमिल और तेलुगु के डब वर्जन के साथ रिलीज़ हुई l ये फिल्म दुनिया के 50 देशों में एक साथ रिलीज़ हुई थी करीब 110 करोड़ के बजट में बनाया गया है। करीब दो घंटे 28 मिनट की इस फिल्म को सेंसर बोर्ड ने बिना किसी कट के पास किया है। सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी इस फिल्म के गीतकार और डायलॉग राइटर भी हैं।

फिल्म में अतुल कुलकर्णी ने ‘तात्या टोपे’, जिशु सेनगुप्ता ने ‘गंगाधर राव’, डैनी ने ‘गुलाम गौस खान’, सुरेश ओबेरॉय ने ‘पेशवा बाजीराव’, वैभव तत्ववादी ने ‘पूरण सिंह’ और ताहेर शब्बीर ने ‘संग्राम सिंह’ के रोल किया है। इस फिल्म में कंगना के बाद सबसे महत्वपूर्ण किरदार ‘झलकारी बाई’ का है, जिसे अंकिता लोखंडे ने निभाया है। मिष्टी चक्रवर्ती, ‘काशीबाई’ बनी हैंl प्रिया गमरे भी हैं और स्वाति सेमवाल भीl सदशिव राव भाऊ का रोल मोहम्मद जीशान अयूब ने निभाया है। ‘बाहुबली’ के लेखक के वी विजयेंद्र प्रसाद ने इसे लिखा है। राधाकृष्ण जगरलमुडी यानि कृष ने भी इस फिल्म का निर्देशन (बीच में छोड़कर चले जाने के कारण कंगना ने कमान संभाली) किया है।