खरसिया में चल रहे अवैध ट्रक ! ट्रक मालिक संघ के द्वारा परिवहन विभाग को ज्ञापन देने के बाद भी परिवहन विभाग मौन.. आखिर कब होगी अवैध ट्रक जप्त व उनके मालिकों पर कानूनी कार्यवाही ? आखिर प्रशासन क्यों हैं मौन ?

खरसिया। कुछ दिन पूर्व ट्रक मालिक संघ खरसिया द्वारा खरसिया में धड़ल्ले से चल रही अवैध (बिना बीमा, टैक्स पेंडिंग) ट्रकों पर लगाम कसने व कार्यवाही करने के लिए संघ ने परिवहन अधिकारी को ज्ञापन एवं जिलाध्यक्ष को ज्ञापन की प्रतिलिपि प्रेषित की गयी थी। ज्ञापन प्राप्त कर परिवहन विभाग ने केवल खाना पूर्ति किया और केवल 2 से 4 ट्रकों पर ही कार्यवाही करते हुए बाकी अवैध रूप से चल ट्रक व उसके मालिकों को बख्स दिया है। ये समझ से परे है की परिवहन विभाग अन्य सभी अवैध ट्रकों व उनके मालिकों को इतना छूट क्यों दे रहा है ?

5 दर्जन से अधिक अवैध ट्रक दौड़ रही है खरसिया के सड़को पर, ट्रकों का नम्बर प्रत्येक दिन इनके मालिकों द्वारा बदला जाता है ताकि किसी को शक ना हो

देखा जाए तो खरसिया में गैरकानूनी रूप से 60-70 ट्रके चल रही है जिसकी सूची यूनियन द्वारा प्रशासन को दी गई है। आपको बता दें कि इन अवैध ट्रकों का नंबर प्रत्येक दिन इनके मालिकों द्वारा बदला जाता है ताकि किसी को भी शक ना हो। खरसिया में पुरानी व स्क्रैप के रूप में दिखने वाली ट्रकों में कार का नंबर एवं टाटा मैजिक का नंबर लगाकर शासन को लाखों का चूना लगाया जा रहा है। राजस्व की हानि हो रही है तो वहीं खटारा ट्रकों के चलते लगातार दुर्घटना का भय बना हुआ है । इन ट्रकों की नंबर सहित शिकायत ट्रक यूनियन द्वारा रायगढ़ आरटीओ विभाग खरसिया पुलिस एसडीएम खरसिया जिलाध्यक्ष महोदय रायगढ़ को करते हुए इन कंडम ट्रकों पर कार्यवाही की मांग की है। दुर्भाग्य तो यह है कि मौखिक जानकारी एवं ज्ञापन देने के बाद भी स्थानीय प्रशासन द्वारा अब तक किसी भी प्रकार की बड़ी कार्यवाही इन ट्रकों के मालिकों पर नहीं की गई है ।

कानूनी कार्यवाही नहीं किए जाने पर ट्रक यूनियन ने फिर से दिया ज्ञापन

आज इसी तारतम्य में ट्रक यूनियन द्वारा एसडीएम खरसिया एवं थाना प्रभारी खरसिया को लिखित आवेदन देकर इन बिना टैक्स परमिट और बिना फिटनेस की चल रही ट्रकों पर कार्यवाही की मांग की है। और निवेदन है कि जल्द से जल्द इन ट्रकों तथा इनके मालिकों पर लगाम करें ताकि सड़क पर धड़ल्ले से दौड़ रही है कंडक्ट रखें किसी की जिंदगी से ना खेल सके। अब देखना यह है कि इन ट्रकों व उनके मालिकों पर प्रशासनिक कार्यवाही कब होती है या ये सभी कंडम ट्रकें यूं ही बिना टैक्स, फिटनेस और बीमा के सड़कों पर दौड़ते हुए पर्यावरण को प्रदूषित करेगी लोगों की जान से खिलवाड़ करती रहेगी और न जानें कितनों की बलि लेगी ?