होम आईसोलेटेड व्यक्ति के बाहर घूमते पाये जाने पर दर्ज होगी एफआईआर और लगेगा 10 हजार रुपये का जुर्माना – डीएम भीम सिंह

रायगढ़, 6 अप्रैल। कोविड संक्रमित पाये गये ऐसे मरीज जो होम आईसोलेशन में रह रहे वे इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वे घर से बाहर नहीं निकले। अगर घर से बाहर घूमते पाये जाते है तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जायेगी और साथ ही 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगेगा। उक्त बातें कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कही।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुये हमें अत्यंत सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने सीएमएचओ से कहा कि पिछले बार जो प्राईवेट हास्पिटल में कोरोना बेड की व्यवस्था थी, उन्हें उसी ढंग से पुन: शुरू कराये तथा मेडिकल कालेज में कोरोना मरीजों के लिये बनाये जा रहे अतिरिक्त 100 बेड को तुरंत चालू करें। जहांं टीकाकरण की संख्या कम हो रही है इसके लिए पार्षद, पटवारी, सचिवों, मितानिनों की सहायता लें और 45 से ऊपर सभी का जल्द से जल्द टीकाकरण करें। सोशल डिस्टेसिंग का पालन करवाये एवं मास्क के लिये अभियान चलाये। उन्होंने सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र अंतर्गत इसकी नियमित समीक्षा करने के निर्देश दिये। उन्होंने रात में अनावश्यक घूमने वालों पर कार्यवाही करने के लिए कहा। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन के काम को 20 अप्रैल तक हर हाल में शत-प्रतिशत पूर्ण करना है। उन्होंने होम आईसोलेशन वाले मरीजों के घरों के बाहर अनिवार्य रुप से पोस्टर लगाने के लिए कहा। जहां मरीज ज्यादा मिल रहे है वहां कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने 45 वर्ष से ऊपर सभी शासकीय कर्मचारी को वैक्सीनेशन करवाने के निर्देश दिये। साथ ही फ्रंट लाईन वर्कर्स के सभी लोगों को कोविड के सेकेण्ड डोज को तत्काल लगवाने के लिए कहा।

गोधन न्याय योजना की हुई समीक्षा

कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में गोधन न्याय योजना की भी समीक्षा की। उन्होंने गौठानों में गोबर का जो गो कास्ट तैयार किया गया है सभी सीएमओ उसे एप में एन्ट्री करें। साथ ही गोबर से खाद के अलावा और कुछ उत्पाद बनवाया गया है उसकी भी एन्ट्री करें। उन्होंने कहा कि खाद बनाने का जो लक्ष्य मिला है उसे पूर्ण करना प्रभारी अधिकारियों की जिम्मेदारी है। उन्होंने गोबर खरीदी के भुगतान का हिसाब रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गोठान समिति के खाते में कितने पैसे उपलब्ध है, कितने की गोबर खरीदी और कितने का कम्पोस्ट विक्रय हुआ इसकी पूरी जानकारी गौठानवार तैयार करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने गोठानों में बने शेड एवं वर्मी पिट की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिन गोठानों में शेड नहीं है उसे लिस्ट बनाकर प्रस्तुत करें। उन्होंने एक महीने से पुराना गोबर बाहर नहीं रखने के निर्देश दिए।

ट्री गार्डन के रूप में दिखे गौठान

कलेक्टर श्री सिंह ने सभी जनपद सीईओ से कहा कि गौठानों के किनारे-किनारे पौधे लगाये, जिससे कि गोठान ट्री गार्डन के रूप में दिखे। इससे वहां के गायों को भी छाया मिल सकेगी। उन्होंने एनएच रोड में भी पौधे लगाने के निर्देश दिये। जिससे शहर की सौन्दर्यता बढ़ सके।

स्वीकृत रोड को तत्काल करें पूर्ण

कलेक्टर श्री सिंह ने सड़क निर्माण की धीमी प्रगति पर पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि टेण्डर हो जाने के चार माह बाद रोड का काम चालू नहीं हुआ है। उन्होंने स्वीकृत हुये सभी रोड के कार्य अविलंब प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।
कलेक्टर श्री सिंह ने केसीसी बनाने के लिये कैम्प लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा किसानों का केसीसी बनाना है। उन्होंने मुख्यमंत्री जन चौपाल एवं कलेक्टर जनचौपाल में मिले प्रकरणों का शत-प्रतिशत निराकरण करने के निर्देश दिये। उन्होंने हाट-बाजार क्लिीनिक योजना, आरबीसी 6-4 के लंबित प्रकरणों की भी जानकारी ली। ग्रामीण क्षेत्र के शासकीय भवनों पर रेन हार्वेस्टिंग के कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये।


इस मौके पर सीईओ जिला पंचायत श्री रवि मित्तल, डीएफओ धरमजयगढ़ श्री मणिवासगन एस, डीएफओ रायगढ़ श्री प्रणय मिश्रा, आयुक्त नगर निगम श्री आशुतोष पाण्डेय, सीएमएचओ डॉ.एस.एन.केशरी, अपर कलेक्टर श्री आर.ए.कुरूवंशी, ज्वाईंट कलेक्टर श्री अभिषेक गुप्ता सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।