रायगढ़ / प्रदेश में सबसे पहले, रायगढ़ के कोतरलिया में दिखता है सूरज..! पढ़ें पुरी खबर..!

रायगढ़ । सूर्योदय के बाद प्रदेश में सबसे पहले किरणें रायगढ़ जिले के कोतरलिया गांव पर पड़ती हैं। गुरुवार यानी 2020 के आखिरी दिन 31 दिसंबर को कोतरलिया में सूर्योदय सुबह 6.35 बजे हुआ। अक्षांश-देशांश की गणना के मुताबिक रायगढ़ में रायपुर से लगभग 6 मिनट पहले सूर्योदय होता है। प्रदेश के पूर्वी छोर पर बसे कोतरलिया में रायगढ़ के कुछ सेकेंड पहले सूर्य की किरणें पड़ती हैं।

देश के दोनों छोर पर सूर्योदय में 2.24 घंटे का अंतर..!

मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा के मुताबिक स्थानीय समय अंतरराष्ट्रीय मानक के अनुरूप समय की गणना ग्रीनविच मीन टाइम (जीएमटी) से होती है। लंदन को जीरो डिग्री मानकर पूर्व में 180 डिग्री और पश्चिम की तरफ 180 डिग्री अक्षांश की गणना होती है। लंदन के पास स्थित ग्रीनविच रेखा को शून्य देशान्तर माना जाता है । यही से अंतरराष्ट्रीय समय की गणना विभिन्न प्रयोजनों में होता है । जैसे एक अन्तरराष्ट्रीय उड़ान के लिए हवाई जहाज का आगमन और प्रस्थान का समय ग्रीनविच रेखा के अनुसार होता है। इस रेखा से भारत के समय में लगभग 5.30 घंटे का अंतर है। इस प्रकार सूर्योदय भी मध्य भारत में लंदन से 5.30 घंटे पहले होता है। चंद्रा कहते हैं,

गणना के आधार पर माना जाता है कि प्रदेश में सबसे पहले सूर्य रायगढ़ के कोतरलिया में दिखता है। क्योंकि पृथ्वी अपनी धूरी पर पश्चिम से पूर्व की ओर घूमती है। इसलिए भारत के चरम पूर्वी किनारे अरुणाचल प्रदेश के चामलांग जिले के विजयपुर में सबसे पहले और गुजरात कच्छ के गुहर मोती में सबसे देर से सूर्योदय होता है। अरुणाचल प्रदेश के चामलांग और गुजरात के गुहर में सूर्योदय में अन्तर लगभग 2घंटे 24 मिनट का अन्तर होता है अर्थात चामलांग में सूर्योदय होने के बाद गुहार में 2 घंटे 24 मिनट बाद सूर्योदय होगा।