रायगढ़ / गुंडा बदमाशों की थानों व पुलिस चौपाल में एसपी Santosh Singh ने ली परेड, साल भर चली पुलिस की सख्ती..!

● क्राईम के लिहाज से भी उपलब्धियों भरा रहा पिछला साल, गंभीर मामलों को हुआ शीघ्र पटाक्षेप….

● गंभीर लूट, अपहरण, अंधे कत्ल, धोखाधड़ी मामलों के आरोपियों की हुई शीघ्र गिरफ्तारी, महिला अपराधों में रिकार्ड 24 घंटे के चालान पेश..!

रायगढ़ । कोरोना कॉल में इंसानियत की जो मिसाल रायगढ़वासियों ने दी है , उसका कोई सानी नहीं है । वर्ष 2020 का एक लंबा समय किसी बुरे सपने से कम नहीं है । वर्ष 2020 सभी के लिए चुनौती बनकर सामने आया । लॉकडाउन दौरान अपनों से दूर फंसे लोगों को कई मील पैदल चलने को मजबूर हुये तो कई लोग घरों में रहकर भी अनेक समस्याओं से लोग जूझते नजर आए । कोरोना काल में हमने कभी ना बंद होने वाले पुलिस स्टेशन भी को बंद होते देखे तो एक ओर जिला पुलिस के “एक रक्षा सूत्र मास्क का” का अभियान को सोशल मीडिया में युवाओं को सात समंदर पार ले जाते हुये भी देखे ।

लॉकडाउन के प्रारंभिक समय में राज्य शासन द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप पहले सख्ती बरती गई । पुलिस के साथ जिले के स्वच्छ छवि के नागरिकों द्वारा वालंटियर के रूप में पुलिस के कार्यों में सहयोग कर अपनी जिम्मेदारी निभाये । जिला पुलिस के मास्क के प्रति जागरूकता अभियान “एक रक्षा सूत्र मास्क का” ने एक नया कीर्तिमान स्थापित किया । मुहिम में 12.37 लाख मास्क का निशुल्क वितरण जन सहयोग से किया गया । मुहिम की सबसे अच्छी बात यह रही कि लोगों ने मास्क की अनिवार्यता को समझे । माह अगस्त में महानदी के तटीय इलाकों में आयी बाढ़ से कई बेघर हो गये थे । ऐसे में जिला प्रशासन, पुलिस विभाग द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन चला कर बाढ़ पीड़ितों को राहत शिविरों में रखकर उनकी भोजन, चिकित्सा आदि में मदद की गई । इसी दौरान बाढ़ प्रभावितों की मदद के लिये जिला पुलिस द्वारा “संवेदना कैंपेन” चलाया गया । इस अनूठी मुहिम सबसे प्रभावित 768 परिवारों में आवश्यकता जीवनोपयोगी वस्तुएं कंबल, लूंगी, धोती, गमछा, साड़ी, एलवेस्टर/टिन शेड, तिरपाल, सीमेंट, जूता चप्पल, रेडीमेड कपड़े , बांस, बर्तन , बाल्टी, मग, गद्दा , चटाई, मच्छरदानी, चादरे साबुन, सर्फ, टॉर्च व राशन सामग्री आदि का वितरण किया गया तथा वाहनों से उनके गांवों तक सामानों को पहुंचाया गया ।

प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देशों पर पुलिस मुख्यालय द्वारा सीनियर सिटीजन के लिये 5 जिलों से “समर्पण अभियान” की शुरुआत की गई जिसमें जिला रायगढ़ भी शामिल था । जिले के विभिन्न थानाक्षेत्रों में 1524 सीनियर सिटीजन का रजिस्ट्रेशन अभियान दौरान किया गया है । अब इस सीनियर सिटीजन की देखभाल की जिम्मेदारी जिला पुलिस की है । सभी थानाध्यक्षों द्वारा उनसे भेंटवार्ता कर उनकी समस्याओं का निराकरण किया गया है । इसी क्रम में इस वर्ष “समर्पण’’ अभियान में जोड़े गये सदस्यों को अपनत्व, सुरक्षा का अहसास दिलाने उनके घर जाकर पुलिस अधिकारियों व जवानों द्वारा उन्हें दीपावली की शुभकामनाएं देकर उपहार स्वरूप फल, कपड़े और मिठाइयां प्रदान किया गया है । जिले के 149 लापता नाबालिकों को ऑपरेशन मुस्कान में दस्तयाब किया गया । महिला संबंधी अपराधों के प्रति चलाये गये चेतना व गूंज कार्यक्रम के जरिये बच्चों व महिलाओं को जागरूक किया जा रहा है ।

क्राईम के लिहाज से जिला पुलिस की त्वरित कार्यवाही प्रदेशभर में सुखियां बटोरी जिसमें 10 ऐसे प्रकरण जिनमें जिला पुलिस को मिली सफलता पर जिलेवासियों को भी सुरक्षा का बोध कराया, ऐसे प्रकरण हैं –

(1) 24 दिसम्बर को पुलिस चौकी रैरूमाखुर्द अन्तर्गत ग्राम बरहामड़ा के 12 वर्षीय बालक का 5 लाख रूपये की फिरौती के लिये अपहरण को 12 घंटे के सफल रेस्क्यू ऑपरेशन में बरामद किया गया । मामले में 03 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई ।

(2) थाना कोतरारोड़ अर्न्तगत किरोड़ीमलनगर के SBI ATM लूटकांड के आरोपियों को 10 घंटे के भीतर सघन नाकेबंदी, सटिक सूचना संकलन में धर दबोचा गया । घटना में शामिल 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे आधुनिक हथियार तथा लूट की रकम 14.50 लाख रूपये की बरामदगी की गई ।

(3) थाना पुसौर क्षेत्रान्तर्गत निवासरत रिटायर्ड ASI से 10.22 लाख की धोखाधड़ी के दो आरोपियों को दिगर प्रांत आडिशा से गिरफ्तार कर लाया गया, आरोपीगण शातिर तरीके से ऑनलाइन एक खाते से दूसरे खाते में रूपयों को ट्राजेक्शन किया जाता था । सायबर सेल की अथक मेहनत से प्रकरण के आरोपियों तक पहुंच पाई, पुसौर पुलिस ।

(4) हाइवे पर लूटपाट करने वाले इंटर स्टेट गैंग के 5 आरोपियों को कोतरारोड़ पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया । आरोपियों द्वारा ट्रक समेत ड्रायवर का अपहरण कर ओडिशा ले गये थे, बाद में उसे छोड़ा गया, पुन: लूटपाट के इरादे से घूम रहे आरोपियों को गस्त पार्टी पकड़ी । आरोपियों से बाइक, चाकू बरामद किया गया ।

(5) कई प्रदेश में ठगी करने वाले रकैट के सरगना को कोतवाली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया । आरोपियों द्वारा कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत निवासरत डॉक्टर की पुत्री का मेडिकल कॉलेज रांची में दाखिल के नाम पर 30 लाख की डील कर 26.68 लाख रूपये प्राप्त किये थे । गिरफ्तार आरोपी से 1 लाख रूपये, मोबाइल व फर्जी सिम बरामद किया गया ।

(6) 17 अक्टूबर को थाना पूंजीपथरा अन्तर्गत 5 वर्षीय बालिका को मोटर सायकल पर दो अपहरणकर्ता किडनैप कर ले भागे, पूंजीपथरा पुलिस द्वारा तत्काल नाकेबंदी कर दो आरोपियों को धर दबोचा गया , जिनके कब्जे से बालिका की सकुशल बरामदगी की गई ।

(7) थाना चक्रधरनगर के दोहरे हत्याकांड का खुलासा इसी वर्ष किया गया । मुख्य आरोपी अनूप कुमार साय पूर्व विधायक, ओडिसा व उसके ड्रायवर को गिरफ्तार कर चार वर्ष पहले के हाई प्रोफाई मामले का पटाक्षेप किया गया ।

(8) घरघोड़ा थानाक्षेत्रान्तर्गत न्यू मार्डन टेक्मो कम्पनी के कर्मचारियों को बंधक बनाकर अज्ञात आरोपियों द्वारा 16 लाख रूपये के सामनों को ले गये । डकैती मामले में 48 घंटे के भीतर 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर 14.33 लाख रूपये के सामानों की बरामदगी की गई ।

(9) ग्राम महलोई, थाना तमनार में खाखी वर्दी पहना युवक 11 वर्षीय बालिका का अपहरण करने की सूचना पर तत्काल नाकेबंदी कर बालिका की सकुशल बरामदगी की गई । आरोपी फायरकर्मी के विरूद्ध दर्ज अपराध में 03 दिनों के भीतर चालान तैयार किया गया ।
(10) महिला अपराधों के प्रति गंभीरता से कार्यवाही करते हुये थाना छाल एवं सारंगढ़ द्वारा 24 घंटे के भीतर आरोपी गिरफ्तार कर चालान सहित न्यायालय पेश किया गया । पूंजीपथरा एवं चौकी जूटमिल द्वारा पास्को एक्ट के प्रकरण का चालान क्रमश: 4 व 5 दिन में पेश किया गया है