बड़ी खबर/ बच्चे को किडनैप करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे..! पुलिस कप्तान के नेतृत्व में मासूम शिवांश को पुलिस ने किडनैपर के कब्जे से छुड़ाने में पाई बड़ी सफलता.. झारखंड में पकड़ाया आरोपी.. खरसिया चौकी में बिलासपुर आईजी और रायगढ़ एसपी के दिशानिर्देशन में ऑपरेशन हुआ सफल.. जाने क्या है पूरा मामला.. दोपहर 03 बजे पुलिस प्रेस वार्ता में करेगी खुलासा.. पढ़े खबर..!

  • बिलासपुर रेंज के आईजी रतन लाल डांगी एवं पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह खरसिया पुलिस टीमों को निर्देश देते हुए ट्रैकिंग पर बनाये हुए थे पूरी नजर
  • चंद घंटों में ही पुलिस कप्तान एस पी संतोष सिंह की टीम से मिली राहत भरी खबर
  • शिवांश को झारखंड के खूंटी डिस्ट्रिक्ट से बरामद किया गया
  • आरोपी खिलावन दास महंत के साथ अमरदास महंत व संजय सिदार हुए गिरफ्तार
  • एसडीओपी पीताम्बर पटेल समेत उनकी टीम ने किया सराहनीय कार्य

रायगढ़। रायगढ़ जिले के खरसिया में एक ट्रांसपोर्टर के 5 वर्षीय बच्चे का अपहरण हो गया था। अपहृत बच्चे के दादा खरसिया नगर पालिका वार्ड क्रमांक 12 के कांग्रेसी पार्षद हैं।

शिवांश के अपहरण की खबर आग की तरह पूरे शहर के साथ जिले में फैल चुकी थी। पुलिस ने सोशल मीडिया में रसोइया और बच्चे का CCTV फुटेज का स्क्रीन शॉट भी जारी किया है। इसके साथ रसोइए का आधार कार्ड डिटेल भी पुलिस द्वारा जारी किया गया है।
बताया जा रहा है कि शाम को बच्चा अपने ही घर के रसोइये के साथ बाइक में बैठकर रायगढ़ चौक की ओर जाता दिखा था जब परिजनों ने रसोइए को फ़ोन लगाना चाहा तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ मिला। हड़बड़ाए परिजनों ने इसकी सूचना खरसिया पुलिस को दी है।सोशल मीडिया के हर माध्यम से लोगों के द्वारा बच्ची का फोटो और आरोपी रसोईया का फोटो वायरल कर मदद की गुहार लगाई जा रही थी।

ये है पूरा मामला

अब तक जो जानकारी सामने आई है उसकी माने तो दो दिन पहले किसी बात को लेकर अपहृत बच्चे शिवांश के परिजनों और रसोईया में नोक-झोंक हुई थी ऐसे में बात बढ़ने पर रसोइये को काम से निकाल दिया गया था । शनिवार की शाम लगभग 5 बजे रसोईया फिर वापस शिवांश के घर आया और और उनसे यह कहा कि उसका कुछ सामान यहां छूट गया है जिसे वह लेने आया है । जब वह बाहर निकला तो बच्चे पर प्यार जताते हुए उसे चिप्स कुरकुरे खिलाने ले गया जिसके बाद रसोईया लगभग 6:00 बजे शिवांश को अपनी बाईक में बैठाते हुए वहां से दूर चला गया । काफी देर बाद भी जब वह बच्चे को लेकर घर नहीं लौटा तो परिजनों की चिंता बढ़ने लगी और उन्होंने बच्चे की खोज खबर लेनी शुरू कर दी। देर हो जाने के कारण परिजनों ने जब अपने रसोईये को फोन लगाया तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था। ऐसे में घबराए परिजनों ने घटना की सूचना देने के लिये खरसिया चौकी पहुंचे। जहाँ खरसिया चौकी प्रभारी नंद किशोर गौतम , खरसिया थाना प्रभारी सुमत राम साहू, एसडीओपी सहित अधिकारियों से पीड़ित परिजनों ने बात करके लिखित शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास लगे सी.सी.टी.वी फुटेज की जांच प्रारम्भ किया तो पाया कि अपहरित बच्चा और रसोईये एक बाईक पर सवार होकर जाते दिखे। बच्चे के परिजन घटना को अपहरण से जोड़ रहे हैं। इस बात की आशंका को लेकर पुलिस ने भी बच्चे और रसोईये की खोजबीन तत्काल शुरू कर दी। खरसिया के कुछ व्हाट्सएप ग्रुपों में रसोईयेऔर बच्चे शिवांश का CCTV फुटेज से प्राप्त स्क्रीन शॉट फ़ोटो को वायरल किया है। इसके साथ ही रसोईये का आधार कार्ड डिटेल भी सोशल मीडिया में जारी किया गया था। अंततः देर रात यह सुखद समाचार आया कि पुलिस ने शिवांश को सकुशल बरामद करते हुए आरोपीयों की गिरफ्तारी भी कर ली है। आरोपी खिलावन दास महंत के साथ अमरदास महंत व संजय सिदार को गिरफ्तार किया जा चुका है।

इस पूरे वारदात और पुलिस की सफलता का खुलासा पुलिस महानिरीक्षक, बिलासपुर एवं पुलिस अधीक्षक रायगढ़ के आज दोपहर 03 बजे खरसिया चौकी में की जाएगी।