दो वर्ष से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल करें निराकरण-कलेक्टर भीम सिंह.. कलेक्टर सिंह ने खरसिया एसडीएम व तहसील कार्यालय का किया निरीक्षण..!

रायगढ़ । दो वर्ष से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण करें। खाता विभाजन नामांतरण व सीमांकन के प्रकरणों पर त्वरित कार्यवाही करें। राजस्व न्यायालयों में लंबे समय से गैर निराकृत प्रकरणों का समय पर निपटारा करना जरूरी है। उक्त बातें कलेक्टर भीम सिंह ने खरसिया राजस्व अनुविभागीय तथा तहसील कार्यालय के निरीक्षण के दौरान कही।

कलेक्टर सिंह ने कार्यालय परिसर में एसडीएम, तहसीलदार व नायब तहसीलदार न्यायालयों का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां लंबित प्रकरणों की जानकारी ली तथा उनके गैर निराकृत होने के कारणों की समीक्षा की। उन्होंने खाता विभाजन, नामांतरण व सीमांकन के लंबित केसेस को प्राथमिकता से एक माह में निराकृत करने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों को प्रकरणों के समय से निराकरण के लिये न्यायालय में नियमित रूप से सुनवाई करने के लिये निर्देशित किया। तहसील कार्यालय के विभिन्न शाखाओं का उन्होंने निरीक्षण कर संबंधित शाखा की पंजियों का अवलोकन किया। दायरा पंजी नियमित रूप से अपडेट करने के निर्देश दिये। आरबीसी प्रकरण के तहत भी पंजियों के नियमित संधारण के लिये कहा। कार्यालय में रिकार्ड रूम को व्यवस्थित करने तथा अनावश्यक सामान वहां नहीं रखने के निर्देश एसडीएम को दिये।

कलेक्टर सिंह ने पटवारियों द्वारा हल्के का प्रभार सौंपे जाने के दौरान पूरी जानकारी देने के निर्देश दिये। इसके लिये एक निश्चित फार्मेट तैयार करने के लिये कहा जिससे सभी आवश्यक जानकारी एक बार में हस्तांतरित हो जाये तथा भविष्य में उस हल्के से संबंधित कार्य में दिक्कत या विलंब ना हो। जाति प्रमाण-पत्र के कार्य भी तय समय-सीमा के भीतर करने के लिये कहा।

कलेक्टर सिंह ने स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया। वहां पंजियों का अवलोकन किया। पंजियां अपूर्ण पाये जाने पर संबंधित शाखा लिपिक को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। उप पंजीयक कार्यालय के निरीक्षण के दौरान उन्होंने फाइलों के रख-रखाव को लेकर नाराजगी जाहिर की। रिकार्ड को व्यवस्थित रूप से रखने तथा साफ-सफाई करवाने के निर्देश उन्होंने दिये। कलेक्टर सिंह ने लोक सेवा केन्द्र का निरीक्षण किया। वहां प्रतिदिन आने वाले आवेदकों की जानकारी ली। बी-वन तथा आधार कार्ड निर्माण तथा उसके लिये जाने वाले शुल्कों की जानकारी ली। कलेक्टर सिंह ने लोक सेवा केन्द्र में बैठक व्यवस्था ठीक करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर सिंह ने वहां वकीलों तथा पहुंचे लोगों से भी उनकी समस्याओं को लेकर चर्चा की। उपस्थित जनों ने बताया कि कार्यालय में शौचालय की स्थिति अत्यंत जर्जर है तथा वहां पानी की दिक्कत भी है। कलेक्टर सिंह ने कार्यालय में नया शौचालय बनवाने के निर्देश दिये। इसके लिये पीडब्लयूडी को प्रपोजल तैयार करने के लिये कहा।

मस्टर रोल पंजी नियमित रूप से करें अपडेट..!

कलेक्टर सिंह ने जनपद कार्यालय का भी निरीक्षण किया। कलेक्टर सिंह ने मनरेगा शाखा का निरीक्षण कर विकासखण्ड में संचालित कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने कार्यों के ऑनलाईन मॉनिटरिंग का भी अवलोकन किया। मस्टर रोल पंजी को नियमित रूप से भरने के स्पष्ट निर्देश दिये। जिससे मनरेगा के अंतर्गत स्वीकृत कार्य के संबंध में मूल्यांकन, सत्यापन, भुगतान के संबंध में पूरी जानकारी एक जगह से प्राप्त की जा सके।

यहां उन्होंने कार्यालय में साफ-सफाई व्यवस्था बेहतर करने के निर्देश दिये। यहां कबाड़ सामान की नीलामी नहीं किये जाने को लेकर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने तत्काल स्क्रैप को नीलाम करने के लिये कहा। कार्यालय में फर्नीचर की मरम्मत कराने व जो उपयोग के लायक नहीं है उसे बदलने के लिये कहा। कार्यालय में विभिन्न शाखाओं के बाहर शाखा के नाम का बोर्ड लगाने के निर्देश दिये। कलेक्टर सिंह ने जनपद पंचायत के बिहान शाखा का भी अवलोकन किया। यहां उन्होंने महिला ग्राम संगठनों के गठन तथा उनके द्वारा किये जा रहे कार्य की जानकारी ली। उनको आबंटित राशि के अनुसार किये गये कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने आबंटित राशि के समय पर उपयोग करने के निर्देश दिये। गौैठान में तैयार किये जा रहे मल्टी एक्टिविटी सेंटर में शुरू की गई गतिविधियों को बढ़ाने के निर्देश दिये।

मध्यान्ह भोजन में वितरित सूखे राशन की जानकारी करें प्रस्तुत..!

कलेक्टर सिंह ने विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने कर्मचारियों की उपस्थिति की जानकारी ली। कार्यालय के विभिन्न शाखाओं के पंजियों का अवलोकन किया। कलेक्टर सिंह ने मध्यान्ह भोजन के अंतर्गत प्रदाय किये जाने वाले भुगतान के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने महिला समूहों द्वारा प्रस्तुत देयक का परीक्षण कर भुगतान के संबंध में जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी को दिये। कार्यालय में साफ-सफाई व्यवस्था बनाये रखने व पंजियों के नियमित अपडेट करने के निर्देश दिये।

इस दौरान डिप्टी कलेक्टर अभिलाषा पैकरा, एसडीएम खरसिया गिरीश रामटेके, सीईओ जनपद अरूण सोम सहित अन्य विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।