किसानो की आय को दुगनी करने छत्तीसगढ़ ने शुरू की “चिराग योजना”
chhattisgarh chirag yojna
बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानो पर केन्द्रित एक नई योजना बनाई है जिसे “चिराग योजना” का नाम दिया गया है| इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रदेश की नदियों को आपस में जोड़ने की योजना बनाई है| इसके लिए प्रमुख नदियों को आपस में इंटरलिंक के सर्वे का काम शुरू हो गया है| इस योजना के लिए 1500 करोड़ रुपए बजट बनाया गया है|

“चिराग योजना” को शुरू करने तथा उसकी स्वीकृति के लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के पास प्रारूप भेज दिया है| कहा जा रहा था कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़  के दौरे पर थे तब इस योजना के लिए राज्य सरकार को उन्होंने सुझाव भी दिया था| अब उनकी मंशानुसार “चिराग योजना” को मूर्त रूप देने का काम शुरू किया जा रहा है|

READ THIS…..छत्तीसगढ़ सरकार ने किया सुपोषण योजना का शुभारंभ

इस सम्बन्ध में कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि चिराग योजना के तहत  महानदी-तांदूला, पैरी-महानदी, अहिरन-खारुन, रेहर-अटे और हसदेव-केवई नदियों को आपस में जोड़ा जाएगा| योजना के दौरान लाखों मजदूरों को रोजगार भी प्राप्त होगा, साथ ही योजना पूरा होने पर किसानों को सूखे और बाढ़ से निजात मिलेगी| कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के हिसाब से इस योजना  के शुरू होने से राज्य के किसानो की आय दोगुनी के साथ किसानों को सूखे और बाढ़ से राहत व सिंचाई की समस्या से भी निजात दिलाएगा|

CLICK HERE TO LIKE OUR FACEBOOK PAGE

FOR LATEST CHHATTISGARH NEWS DON’T FORGET TO LIKE OUR FACEBOOK PAGE

 

 

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *