मंत्री चंद्राकर की अनूठी जनसंपर्क यात्रा, कहीं ग्रामीणों के बीच उठाया सब्जी खरीदने का लुत्फ, तो कहीं दूल्हे को हल्दी – तेल लगाकर दिया आशीष

पंचायत मंत्री चंद्राकर की अनूठी जनसंपर्क यात्रा का आगाज़

कुरूद. प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर 11 मार्च से प्रदेश व्यापी जनसम्पर्क यात्रा की आगाज कर चुके है जहां वे गांव-मोहल्ले में पैदल यात्रा चलकर युवा, बुजुर्ग गरीब, किसान व ग्रामीणों से सीधे संपर्क कर उनकी समस्याओं से रूबरू रहे। जनसम्पर्क में तेजतर्रार व सख्त मंत्री के रूप में पहचाने जाने वाले मंत्री चंद्राकर की सादगी भी लोगो को खूब भा रही है।

रविवार को विकासखण्ड के ग्राम सेमरा(सी), खपरी, जोरातराई, सिलौटी, सौराबांधा, जुगदेही आदि की यात्रा में निकले क्षेत्रीय विधायक व केबिनेट मंत्री श्री चंद्राकर का अंदाज निराला था। उनका अंदाज देख लोगो को कयास लगाते देखा गया कि प्रत्यक्ष और परोक्ष के अजय चंद्राकर की व्यहार कुशलता और सादगी में काफी फर्क है। जब वे सेमरा में सभा में बैठे थे तो खेलते-खेलते मंच पर जा पहुंचे एक छोटी सी बच्ची “भाविका सिन्हा” को गोद मे ले उन्हें प्यार करते दिखाई दिए। जब पंचायत मंत्री सभा पश्चात गली भ्रमण पर निकले तो गांव के एक विवाह बंधन में बंधने जा रहे चिरंजीव “चन्द्रहास यादव” के घर पहुंच तेल हल्दी कर तिलक लगाया और भेंट प्रदान कर उन्हें उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी। इस दौरान मंत्री ने अपने समर्थकों को श्री यादव के घर का बना पकवान बड़ा रोटी भी परोसकर सबको आनंदित किया।
मंत्री अजय के साथ जयघोष करते समर्थकों और युवाओं की टोली आगे बढ़ती जा रही थी। जिसे देख लोग अपने-अपने घरों से निकलकर उनका अक्षत लगा व पुष्प वर्षा कर जोशीला स्वागत कर रहे थे तो वही श्री चंद्राकर भी बड़े बुजुर्गों का पैर छू-कर आशीर्वाद भी लेते रहे। पदयात्रा करते-करते विशाल पदयात्रियों के साथ जब वे सिलौटी पहुंचे तो गांव में डंडा नृत्य करते लोगो का उत्साह देख स्वयं नृत्य करने भीड़ गए जहां उन्होंने खूब तालियां भी बटोरी इस दौरान नृत्य मंडली से रूबरू होते हुए उन्हें पारम्परिक लोक नृत्य को सहेजकर रखने के लिए शुभकामनाएं दी।


मंत्री जी का खास अंदाज उस समय देखने को मिली जब वे काफिले से हटकर गांव में ही साप्ताहिक बाजार में बैठी एक पसरे वाली के पास जा पहुंचे और उनका हालचाल पूछते हुए उनसे प्याज भाजी खरीद लिया। जब वे सब्जी खरीदी तो पसरे में बैठे श्रीमती अगासा बाई निषाद मंत्री के आत्मीय लगाव व उनके सादगी को देख भावुक हो गए और उन्होंने मंत्री से भाजी का दाम लेने से मना कर दिया लेकिन मंत्री चंद्राकर  ने मानवता का भाव दिखाते हुए बार बार मना करने पर बड़े ही विनम्र पूर्वक कहा कि यह तुम्हारी मेहनत का पैसा है, मंत्री मैं अपनी जगह हूं, कहकर उन्हें भाजी का दाम और अपनी ओर से भेंट उन्हें प्रदान किया। इस जनसंपर्क यात्रा में मंत्री जी का यह विनम्र व्यवहार लोगों को खूब भाया, तथा इससे आम जनता के प्रति मंत्री जी के विनम्र भाव का पता चलता है यह वाकया कल दिन भर चर्चा का विषय बना रहा जहाँ लोगों ने सोशल मीडिया में यह फोटो खूब शेयर की|

News Reporter