CHHATTISGARH featured National News 

वीरता / चेरपाल में नक्सली मुठभेड़ में घायल जवान लड़ता रहा; तीन को पछाड़ा, दो पकड़े गए

  • अचानक हुए हमले के बाद भी हिम्मत नहीं हारी, नक्सलियों को उनके ही चाकू से कर दिया घायल
  • साप्ताहिक हाट के दौरान ड्यूटी पर तैनात थे जवान, लोगों को नुकसान न हो इसलिए नहीं चलाई गोलीबीजापुर. जिला मुख्यालय से 15 किमी दूर चेरपाल में शनिवार शाम पांच बजे नक्सलियों की स्माॅल एक्शन टीम के तीन चाकूबाज नक्सलियों से डीआरजी का आरक्षक देवा लड़ता रहा। अचानक हुए हमले के बाद भी उसने हिम्मत नहीं हारी और नक्सलियों को उनके ही चाकू से घायल कर दिया। पुलिस की घेराबंदी में दो नक्सली तो पकड़ लिए गए लेकिन तीन भाग खड़े हुए।

    सादे कपड़ों में पहुंचे नक्सलियों ने अचानक किया हमला

    1. पुलिस के मुताबिक चेरपाल में शनिवार को साप्ताहिक हाट था और दस जवानों को बाजार ड्यूटी के लिए यहां से भेजा गया था। जवान सुरक्षा में तैनात थे, तभी सादे कपड़े में आए एक नक्सली ने जवान देवा मोड़ियम पर चाकू से हमला कर दिया और तब तक कि वह संभल पाता दूसरे नक्सली ने उसके गले पर चाकू टिका दिया।
    2. देवा ने फौरन दोनों के हाथ झटक दिए और वे संभल नहीं पाए। देवा ने तब दोनों नक्सलियों के चेहरे पर चाकू से हमला किया। इस बीच तीसरा नक्सली भी आ गया। हो-हल्ला सुन तुरंत जवान आ गए। जवानों को देख तीन नक्सली तो भाग गए लेकिन दो जख्मी नक्सली पकड़ लिए गए।
    3. गोलीबारी करते तो गांव के लोग मारे जाते

      एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि बाजार में जवान तैनात थे और उन्होंने दो नक्सलियों को घायल अवस्था में पकड़ लिया। तीन नक्सली भाग गए लेकिन पुलिस उन्हें पकड़ने गोलीबारी कर सकती थी। बाजार में भगदड़ मची थी और जवानों ने संयम का परिचय देते गोली नहीं चलाई। इसमें आम लोगों की भी जान जा सकती थी।

    4. एसपी ने बताया कि सोनू को जबड़े और चेहरे में चोट आई है। उसे जगदलपुर रेफर किया जा रहा है। हालांकि उसकी हालत खतरे से बाहर है। वहीं सुक्कू का इलाज जिला हाॅस्पिटल में ही चल रहा है। जवान के अलावा दोनों नक्सलियों का बेहतर उपचार करवाया जा रहा है।

    मुखबिरी की शक में नक्सलियों ने की पिटाई

    1. सुकमा/दोरनापाल.पोलमपल्ली थाना क्षेत्र में एक ग्रामीण की पिटाई नक्सलियों ने की है। ग्रामीण पर पहले मुखबिरी का आरोप लगाया। इसके बाद उसे जंगल में ले जाकर पिटाई की। पिटाई के बाद उपमपल्ली निवासी गंगा को गंभीर अवस्था में इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। गंगा ने पुलिस को बताया कि शनिवार रात बड़ी संख्या में नक्सली लीडर रमेश कुछ हथियारबंद साथियों के साथ उपमपल्‍ली गांव आए। कवासी गंगा को उसके घर से ले गए। कुछ दूर जंगल में ले जाकर पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए पिटाई की। कवासी गंगा को गंभीर अवस्था में परिजनों ने रविवार सुबह दोरनापाल अस्पताल में भर्ती कराया। उनका इलाज किया जा रहा है।

    नाविक को गला दबाकर मारा था

    1. पखांजूर. गुरुवार रात ग्राम माझपल्ली में नक्सलियों ने ग्राम वेरकोट निवासी ग्रामीण नाविक रैजूराम आंचला 40 वर्ष की हत्या कर दी थी। मृतक कोटरी नदी के ग्राम पीवी 64 घाट में नाव चलाकर लोगों को नदी पार कराता था। पुलिस तथा फोर्स कई बार गश्त में पहुंचती तो नाविक को उन्हें भी नदी पार कराना पड़ता था। इसी कारण नक्सलियों को उस पर शक हो गया की नाविक पुलिस के लिए मुखबिरी करता है और उसकी हत्या कर दी। इस हत्या के बाद गांव में इतनी दहशत है की कोई कुछ नहीं बोल रहा है। गांव के लोग तो दूर परिजन तक पखांजूर पुलिस थाना रिर्पोट लिखाने आने से डर रहे थे। तीन चार बेहद निकट के परिजन पखांजूर पहुंचे जिनकी उपस्थिति में शव का पोस्टमार्टम कराया गया। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने परतापुर एरिया कमेटी के अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया।

Related posts