Sat. Dec 7th, 2019

मंत्री उमेश पटेल की फटकार के बाद रायगढ़ -बिलासपुर मार्ग के काम में तेजी

रायगढ़ -बिलासपुर राष्ट्रीय राजमार्ग मार्ग ठेकेदार के द्वारा बाधित कर देने से क्षेत्रवासियों को आवागमन में परेशानी हो रही थी, जिसकी शिकायत मिलने पर कुछ दिन पहले मंत्री उमेश पटेल निरिक्षण के लिए पहुंचे थे, मंत्री उमेश पटेल जी की त्वरित कार्यवाही के चलते सड़क का काम जल्दी ही शुरू हो गया, इतने दिनों से परेशान हो रही जनता को राहत मिली।

खरसिया से सक्ती को जोड़ने वाली नेशनल हाईवे वे सड़क बनाने के लिए खरसिया ब्लाक के ग्राम पलगड़ा में पानी निकासी हेतु बने साइफन सीढ़ी तोड़ दी गई जिसके बाद एनएच की मुख्य सड़क में पानी भरने से ट्रैफिक जाम हो गया। वहीं किसानों के खेतों में भी पानी भर गया ग्रामीणों की शिकायत पर 7 सितम्बर को उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल पहुंचे और इस हालात को लेकर एन एच के अफसरों को खूब फटकार लगाई।

शिक्षा मंत्री ने अधिकारीयों से कहा कि साइफन सीढ़ी तोड़े जाने पर उन्होंने एनएच के ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर क्यों नहीं करवाई। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि आवागमन बाधित ना हो इसके उपाय किए जाए साथ ही किसानों की फसलों को भी कोई नुकसान नही पहुंचे। हाईवे सड़क को बनाने के दौरान ठेकेदार के आदमियों ने पलगड़ा बांध के साइफन सीढ़ी को तोड़ दिया बाद में तेज बारिश होने पर का पानी सड़कों पर आ गया और ट्रैफिक जाम हो गया साथ ही पानी आसपास के खेतों में भी भरने लगा जिससे ग्रामीणों को परेशानी होने लगी। इस शिकायत पर उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल पलगड़ा पहुंचे। वहां सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सीढ़ी जो साइफन में बनाया गया था उसे ठेकेदार द्वारा बिना अनुमति लिए तोड़ दिया गया, जिसके चलते सड़क जाम की स्थिति निर्मित हुई है। मंत्री ने एफआईआर दर्ज क्यों नहीं किया गया कह कर सिंचाई विभाग को निर्देश किया था। जिस पर ठेकेदार ने सभी गलती स्वीकार किया। उस समय मंत्री महोदय के द्वारा लापरवाही के लिए फटकार लगाई गई और निर्देशित किया गया था कि साइफन सीढ़ी के काम को तत्काल चालू कराएं ताकि सड़क में आवागमन किसी भी स्थिति में अवरोध ना हो। मंत्री महोदय की फटकार के बाद काम तुरंत शुरू हो गया।