Thu. Jun 20th, 2019

भाजपा विधायक भीमा मंडावी और शहीद जवानों को सीएम बघेल ने दी श्रद्धांजलि

मंगलवार को नक्सली हमले में भाजपा विधायक की मौत के साथ ही चार जवान शहीद हुएविधायक के शव को अंतिम दर्शन के लिए भाजपा कार्यालय और फिर पुलिस लाइन लाया गयागृहग्राम गदापाल में होगा विधायक का अंतिम संस्कार, शहीद जवानों के शव भी उनके गृहग्राम भेजे जाएंगे

रायपुर/दंतेवाड़ा. छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में मंगलवार शाम हुए नक्सली हमले के बाद प्रदेश में शोक की लहर है। हमले में मारे गए विधायक भीमा मंडावी के अंतिम दर्शन के लिए लोग उमड़ पड़े हैं। दंतेवाड़ा में उनके घर से लेकर भाजपा कार्यालय तक लोगों को हुजूम उमड़ा है। विधायक का शव बुधवार सुबह करीब 8 बजे भाजपा कार्यालय लाया गया। कार्यालय में सैंकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता, समर्थक और प्रसंशक पहुंच रहे हैं।

पुलिस लाइन में मुख्यमंत्री, गृहमंत्री ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

कलेक्टर के आदेश पर मंगलवार रात ही मृत विधायक भीमा मंडावी का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव उनके परिजनों को सौंप दिया गया। इसके बाद परिजन शव लेकर गांव चले गए। सुबह मंडावी के शव को भाजपा कार्यालय से पुलिस लाइन में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया।

  1. पुलिस लाइन में ही विधायक के साथ ही शहीद जवानों को भी श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद सभी के शव उनके अंतिम संस्कार के लिए पैतृक गांव भेजे जाएंगे। विधायक मंडावी का भी अंतिम संस्कार उनके गृहग्राम गदापाल में होगा। भाजपा प्रदेश प्रभारी अनिल जैन, डॉ. रमन सिंह के साथ पार्टी के कई नेता भीमा मंडावी के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे। पुलिस लाइन में श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वहीं उच्चाधिकारियों की बैठक करेंगे। जिसमें नक्सली हमले, सुरक्षा और चुनाव को लेकर चर्चा होगी। 
  2. वोटिंग से महज 36 घंटे पहले नक्सलियों ने किया बड़ा हमला दंतेवाड़ा में लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण की वोटिंग से महज 36 घंटे पहले नक्सलियों ने बड़े हमले को अंजाम दिया। नक्सलियों ने मंगलवार को दंतेवाड़ा के कुआंकोंडा थाना क्षेत्र के श्यामगिरी नकुलनार रोड पर भाजपा के काफिले को निशाना बनाते हुए आईईडी ब्लास्ट किया। हमले में भाजपा विधायक भीमा मंडावी के मारे जाने के साथ ही उनके ड्राइवर दंतेश्वर मौर्य और हेड कांस्टेबल छगन कुलदीप, आरक्षक सोमडू कवासी व प्रधान आरक्षक रामलाल शहीद हो गए।