CHHATTISGARH featured National News 

नक्सल अटैक / शहीद रुद्र प्रताप सिंह पंचतत्व में हुए विलीन, कलेक्टर और एसपी ने दी सलामी

जांजगीर-चांपा. दंतेवाड़ा के अरनपुर थाना इलाके में नीलवाया के जंगल में नक्सल अटैक में शहीद हुए इंस्पेक्टर रुद्र प्रताप का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव सोनसरी पहुंचा। पूरा गांव गमगीन हो गया। यहां शहीद को सलामी देने के बाद उनके चचेरे भाई ने मुखाग्नि दी।

 

शहीद को एसपी नीतू कमल और कलेक्टर नीरज बंसोड़ ने अंतिम सलामी दी। इसके बाद ग्रामीणों ने श्रद्धांजलि दी। पूरे गांव में उनके पार्थिव शरीर की यात्रा निकाली गई। नम आंखों से ग्रामीणों ने रुद्र प्रताप सिंह की शहादत पर अमर रहे का नारा लगाते हुए विदाई दी। इसके बाद शहीद के शव को भाई अविनाश सिंह ने मुखाग्नि दी।

 

मंगलवार को दिल्ली से दूरदर्शन की टीम बस्तर में हुए विकास पर कवरेज करने पहुंची थी। पुलिस सुरक्षा के बीच नीलवाया के जंगल में रिपोर्टिंग के लिए जाते समय नक्सलियों ने हमला कर दिया था। नक्सलियों की गोलीबारी का जवाब देते हुए रुद्र प्रताप सिंह, एक आरक्षक मंगलू मंडावी और दूरदर्शन के कैमरा मैन अच्युतानंद साहू शहीद हो गए थे। वहीं इलाज के दौरान आज एक और सिपाही राकेश कौशल की रायपुर के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। इस घटना में अच्युतानंद के लाइटमैन मोर मुकुट बाल-बाल बच गए।

 

शहीद

दंतेवाड़ा लाया गया शहीद राकेश का पार्थिव शरीर

मुठभेड़ में गंभीर रूप से घायल जवान राकेश कौशल ने बुधवार को रायपुर में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। उनके पार्थिव शरीर को हेलीकॉप्टर के जरिए दंतेवाड़ा ले जाया गया। बुधवार शाम तक उनके गृह नगर बारसूर में अंतिम विदाई दी जाएगी।

Related posts