CHHATTISGARH featured 

दुर्घटना / धूल के गुबार में कुछ दिखा नहीं, गड्ढे में गिरी जीप, एक मौत 8 घायल

  • दिवाली की छुट्‌टी से पहले मजदूरों की टोली रविवार को पिकनिक मनाने गई थी
  • गड्‌ढे में जीप गिरने के बाद 12 मजदूर उसमें दब गए, एक की गर्दन सीट के बीच फंस गई

रायगढ़. जिले में गड्ढों से पटी सड़कें और उड़ती धूल के कारण आए दिन हादसों में लोगों की जान जा रही है। रविवार की शाम भी रायगढ़-सारंगढ़ हाइवे पर तिलगी के नजदीक धूल के कारण एक जीप पलट गई। दबने से एक की मौत हो गई जबकि 8 को गंभीर चोट आई है। कमांडर जीप सामने से आ रहे ट्रक को साइड देने के लिए सड़क के नीचे उतारी गई। धूल के गुबार के कारण कुछ दिखा नहीं और जीप किनारे गड्ढे में गिर गई।

पिकनिक मनाने गए थे मजदूर

  1. सरईभदर में रहकर काम करने वाले मजदूर रविवार को छुट्टी के दिन पिकनिक मनाने के लिए चंद्रपुर गए थे। कमांडर में सवार होकर 12 लोग चंद्रपुर सुबह पिकनिक मनाने पहुंचे थे। इसमें संतोष बरेठ, जितेंद्र सिदार, लोचन बरेठ 22 साल, बसंत बरेठ, रघुनाथ साहू, धनंजय साहू, राजा सहित अन्य लोग शामिल थे।
  2. सुबह से शाम पिकनिक मनाने के बाद युवकों की टोली शाम को पुसौर तिलगी मार्ग से वापस सरईभदर के लिए लौट रही थी। इसी दौरान पुसौर तिलगी के पास गाड़ी अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई। गाड़ी में सवार 12 लोग खाई में गाड़ी के नीचे दब गए।
  3. किसी तरह से अपने आप को बचाते हुए सब बाहर भी निकल आए। बसंत बरेठ की गर्दन सीट के बीच में फंस गई थी। उसे निकालने के बाद उसकी हालात गंभीर देखते हुए उसे तुरंत डायल 112 से रायगढ़ मेकाहारा अस्पताल में पहुंचाया गया। यहां पहुंचने के बाद चिकित्सकों ने बसंत के मौत हो जाने की पुष्टि की। 12 में से आठ लोगों को चोंट आई थी, जिन्हें इलाज के लिए डायल 112 ने रायगढ़ के मेकाहारा अस्पातल पहुंचा दिया था।
  4. दीपावली की छुट्टी पर घर जाने वाला था बसंत

    मृतक बसंत बरेठ बरदुला सारंगढ़ का रहने वाला है। युवक परिवार से दूर सरईभदर में काम कर रहा था। उसके परिवार में उसके दो छोटे बच्चे और पत्नी भी है। दीवाली मनाने के लिए वो वापस अपने घर जाने वाला था। इससे पहले ही उसकी मौत की खबर परिवार वालों तक पहुंच गई।

Related posts