CHHATTISGARH featured National News POLITICS 

छत्तीसगढ़ / टिकट बंटते ही कांग्रेस में बगावत, रायपुर और बिलासपुर के पार्टी दफ्तरों में तोड़फोड़

  • कांग्रेस ने दूसरे चरण की 18 सीटों पर 5वीं सूची गुरुवार को जारी की
  • टिकट नहीं मिलने से कांग्रेस नेताओं ने हंगामा किया, वरिष्ठ नेताओं में भी तकरार दिखीरायपुर. कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 18 सीटों पर 5वीं सूची गुरुवार को जारी कर दी। लिस्ट में रेणु जोगी का कोटा सीट से कांग्रेस ने पत्ता काट दिया। इसके साथ ही जोगी परिवार का 1985 से कांग्रेस से चला आ रहा संबंध फिलहाल खत्म हो गया है। जोगी कांग्रेस में गए 3 विधायकों के नाम भी पार्टी ने साफ कर दिए हैं।

     

     

    ruckus

पूर्व में दुर्ग ग्रामीण से घोषित प्रत्याशी प्रतिमा चंद्राकर को पार्टी ने घर बैठा दिया है, उनकी जगह सांसद ताम्रध्वज साहू लड़ेंगे। सूची जारी होने के बाद कन्हैया अग्रवाल को टिकट मिलने पर एजाज ढेबर समर्थकों ने रायपुर और अटल श्रीवास्तव समर्थकों ने शैलेष पांडेय को प्रत्याशी बनाने पर बिलासपुर कांग्रेस दफ्तर में तोड़फोड़ की।

 

पुनिया-बघेल के बीच विवाद, भूपेश ने दे दी इस्तीफे की धमकी : चुनाव को लेकर पीसीसी चीफ भूपेश बघेल आैर प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के बीच विवाद लगभग हर बैठक में देखने को मिला। यही वजह रही है कि गुरुवार को जारी सूची में कई चौंकाने वाले नाम सामने आए हैं। इनमें सबसे ज्यादा चौंकाने वाला बिलासपुर, पंडरिया, दुर्ग आैर रायपुर दक्षिण शामिल हैं, जहां से जो नाम चल रहे थे उनके स्थान पर दूसरे को मौका मिला। इसके अलावा भूपेश समर्थक अटल व प्रतिमा का टिकट कटना भी विवाद का कारण बना।

 

ruckus

 

ऐसे शुरू हुआ विवाद  : बिलासपुर से अटल श्रीवास्तव आैर कोटा से शैलेष पांडेय का टिकट तय माना जा रहा था। बुधवार शाम तक यह तय भी था, पर देर रात बैठक में सब बदल गया। इसी बात को लेकर विवाद शुरु हुआ। पंडरिया से योगीराज सिंह का टिकट तय माना जा रहा था, क्योंकि उनका कवर्धा में भी प्रभाव है। योगी को टिकट देकर पंडरिया आैर कवर्धा दोनों साधने की तैयारी थी, पर ममता को प्रत्याशी बना दिया गया। रायपुर दक्षिण से रुचिर-प्रमोद में से किसी एक का टिकट तय था, पर देर रात कन्हैया का नाम फाइनल किया गया। सबसे चौंकाने वाला फैसला दुर्ग ग्रामीण को लेकर रहा। पहले ताम्रध्वज को बेमेतरा से लड़ाने की तैयारी थी, लेकिन वहां से एक बार चुनाव हारने के कारण साहू ने मना कर दिया इसके बाद उन्होंने दुर्ग ग्रामीण से चुनाव लड़ने को लेकर हामी भरी। पर ग्रामीण से प्रतिमा प्रत्याशी घोषित हो चुकी थीं। प्रतिमा से बात की गई, उन्होंने आलाकमान की बात स्वीकार कर ली। इसके बाद ताम्रध्वज प्रत्याशी बनाए गए।
पुनिया के सामने भी नारेबाजी : ढेबर समर्थकों द्वारा की जा रही तोड़फोड़ के बीच प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया भी राजीव भवन पहुंचे। लेकिन वहां उनके सामने भी नारेबाजी होती रही। वे ढेबर को टिकट देने की मांग कर रहे थे। हंगामा,तोड़फोड़ आैर नारेबाजी के बीच पुलिस भी राजीव भवन पहुंच गई। वहां से से प्रदर्शन करने वालों को खदेड़ा गया। लगभग आधे घंटे बाद मामला शांत हुआ।

 

जिसने आवेदन नहीं दिया उसे क्यों दी टिकट : कांग्रेसियों का कहना है कि बिलासपुर सीट से 49 लोगों ने टिकट के लिए आवेदन दिया था। उनमें से किसी को भी टिकट देना था। लेकिन ऐसे व्यक्ति को टिकट दी गई है,जिसने आवेदन ही नहीं दिया है। लोग बिलासपुर से टिकट बदलने की मांग कर रहे हैं। जब दुर्ग में उम्मीदवार बदला जा सकता है तो बिलासपुर में क्यों नहीं बदला जा सकता। कुछ लोगों ने मोबाइल पर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव और भुवनेश्वर कलिता से बात की है। उन्हें अपनी भावनाओं के बारे में बताया।

 

विवाद की बात भाजपा द्वारा फैलाई अफवाह है। मकसद है कांग्रेस में कलह पैदा करना। – पीएल पुनिया बोले,  छत्तीसगढ़ प्रभारी

Related posts