Mon. Feb 25th, 2019

खरसिया में भी खुले नया सीपेट-श्री पटेल स्याहीमुड़ी में सीपेट संस्थान का केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा, एवं जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उच्च शिक्षा रोजगार मंत्री उमेश पटेल ने किया उद्घाटन

कोरबा का सीपेट देश के अन्य संस्थानों के लिए मॅाडल- श्री गौड़ा

सीपेट से स्थानीय बेरोजगारों को मिलेगा रोजगार का अवसर-श्री अग्रवाल

खरसिया में भी खुले नया सीपेट-श्री पटेल

स्याहीमुड़ी में सीपेट संस्थान का केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा, एवं जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उच्च शिक्षा रोजगार मंत्री उमेश पटेल ने किया उद्घाटन

कोरबा/ कोरबा में नव स्थापित केंद्रीय प्लास्टिक इंजीनियरिंग और तकनीकी संस्थान के भवन और अन्य व्यवस्थाओं को आज केंद्रीय उर्वरक एवं रसायन मंत्री श्री संदानंद गौड़ा ने देश का आदर्श संस्थान बताया और आगे स्थापित होने वाले नये संस्थानों के लिए कोरबा माडल को अपनाने की सहमति दी। स्याहीमुड़ी स्थित एजुकेशन हब परिसर में आज केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री श्री सदानंद गौड़ा, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा एवं जनशिकायत मंत्री श्री उमेश पटेल, राजस्व एवं आपदा प्रबंधक, पुनर्वास, मुद्रांक एवं स्टाम्प और जिले के प्रभारी मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल ने प्लास्टिक एवं इंजीनियरिंग के केंद्रीय संस्थान का लोकार्पण किया। इस दौरान प्रमुख रूप से सांसद डा. बंशीलाल महतो, विधायक रामपुर श्री ननकीराम कंवर, विधायक कटघोरा श्री पुरूषोत्तम कंवर, विधायक पाली तानाखार श्री मोहित केरकेट्टा, सभापति नगर पालिक निगम धुरपाल सिंह कंवर, प्रमुख सचिव श्रीमती रेणु जी. पिल्लै,उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय की संयुक्त सचिव श्रीमती अर्पणा एस. शर्मा, संचालक एस.के.नायक, कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

   सीपेट के उद्घाटन अवसर पर मुख्य अतिथि श्री सदानंद गौड़ा ने अपने संबंोधन में कहा कि आज प्लास्टिक का उपयोग बच्चों के खिलौने से लेकर हवाई जहाज सहित अन्य उत्पाद, कार्यों में किया जा रहा है। भारत को आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करने में प्लास्टिक उद्योग सहित इसके सहायक उत्पादों एवं उद्योगों का बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि कोरबा में देश के चैंतीसवे संस्थान की शुरूआत करते हुए उन्हें अत्यंत हर्ष हो रहा है। उन्होंने संस्थान की स्थापना के लिए छत्तीसगढ़ शासन से मिले सहयोग पर भी आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सीपेट जैसी संस्था के माध्यम से युवाओं को प्रशिक्षण उपरांत रोजगार से जोड़ने और कुशल बनाने का काम किया जा रहा है। श्री गौड़ा ने कहा कि सीपेट में डिप्लोमा एवं डिग्री कोर्स के माध्यम से प्लास्टिक इंजीनियरिंग के पहलुओं को तकनीकी रूप से जानकारी देकर प्रशिक्षित किया जाता है। उन्होंने कोरबा सीपेट संस्थान को आदर्श बताते हुए कहा कि यह देश के लिए एक माडल है और स्थानीय युवाओं को बेहतर प्रशिक्षण के साथ रोजगार से जुड़ने का अवसर भी मिलेगा।

     उद्घाटन अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि छ.ग.शासन शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने के साथ ही किसानों का कर्ज माफ एवं धान का पच्चीस सौ रूपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य देने का बड़ा काम किया है। सीपेट संस्थान खुलने से स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मिलने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि जिला खनिज न्यास की राशि से सीपेट का भवन 82 करोड़ रूपये में तैयार हुआ है। डीएमएफ की राशि से शीघ्र ही जिले में यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने एवं सड़क दुर्घटनाओं को रोकने सड़कों का विस्तार किया जायेगा। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से बंद पड़े उर्वरक संयंत्र को प्रारंभ करने की मांग की। उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमेश पटेल ने कहा कि छ.ग.शासन द्वारा सीपेट के संचालन के साथ ही प्रशिक्षण एवं रोजगार की व्यवस्था हेतु आवश्यक सहयोग प्रदान किया जाता है। उन्होंने इस संस्थान के माध्यम से बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण के साथ रोजगार मिलने की बात कहते हुए खरसिया क्षेत्र में भी सीपेट जैसी संस्था प्रारंभ करने की मांग केद्रीय मंत्री से की।

   कार्यक्रम को क्षेत्रीय सांसद डा. बंशीलाल महतो ने भी संबोधित किया।

आवासीय प्रशिक्षण दिया जायेगा- सीपेट में निःशुल्क आवासीय प्रशिक्षण देने की योजना है। कौशल विकास पाठ्यक्रम के साथ 240 युवाओं को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य है। प्रशिक्षण की अवधि 4 से 6 माह तथा मशीन आपरेटर कोर्स, इंजेक्शन मोल्डिंग, ब्लो मोल्डिंग एवं एक्सटूशन प्रोसेस शामिल है। यहां अगस्त से त्रिवर्षीय पाट्यक्रमों की शुरूआत होगी।

क्रमांक/1149