Mon. Feb 25th, 2019

गुपचुप तरीके से पूरे बस्तर में फ़ैल रहा यह विदेशी बीमारी…..

Jaapani Bukhar

जापानी बुखार

बस्तर. सरकारी तंत्र की लापरवाही कहे या अकर्मण्यता,जिसके चलते जहाँ छोटी छोटी बीमारियों का भी सही ईलाज ना मिल पाने की वजह से बस्तर के ग्रामीण दम तोड़ देते है, वही ग्रामीण क्षेत्र की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है, साथ ही ग्रामीण क्षेत्र पूरी तरह मलेरिया प्रभावित है, इन सब चुनौतियो से स्वास्थ्य विभाग अभी उबरा ही नहीं कि एक नयी बीमारी गुपचुप तरीके से पुरे बस्तर क्षेत्र को चपेटे में ले रही है. डाक्टरों की टीम ने इसे “जापानी इन्सेफ्लाईटिस या जापानी बुखार” के रूप में चिन्हांकित किया है।

jaapani inseflytees bastar
जापानी बुखार

एवम मरीजों के लक्षण देखने के बाद जांच के लिए कुछ नमूने लैब भेजे गए थे, जिसमे डॉक्टरों ने जापानी बुखार के पाए जाने की पुष्टि की. यह बीमारी सुकमा जिले से निकलकर पहले बीजापुर पहुंची और अब दंतेवाड़ा जिले में मौजूदगी दर्ज करा रही है। इस बीच जापानी बुखार की आशंका में मैकोज में भर्ती किये जाने के बाद दंतेवाडा जिले की गढ़पाल में रहने वाली तीन वर्षीय रानी ने दम तोड़ दिया है, रानी को झटके आना,बुखार,निश्चेतना की शिकायत के बाद गंभीर अवस्था में भर्ती किया गया था।
इसके बाद डॉक्टर उसके ईलाज में जुटे थे इधर बीजापुर और सुकमा में भी बच्चे जापानी बुखार से पीड़ित पाए गए है, जिससे निपटने में स्वास्थ्य अमला कुछ नहीं कर पा रहा है, बड़े अफसर आंकडे जुटाने में व्यस्त है,इस बीच फील्ड में रोकथाम के कोई प्रयास नजर नही आ रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *