कांग्रेस ने अच्छा काम किया होता तो आज मोदी को इतनी मेहनत नहीं करनी पड़ती

रायगढ़, 14 सितंबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोंड़ातराई की आमसभा ऐतिहासिक रही। भारी बारिश के बावजूद लोग अपने घरों से निकलकर मोदी को सुनने पहुंचे। पीएम मोदी ने भी उन्हें निराश न करते हुए खराब मौसम का असर कार्यक्रम में नहीं पडऩे दिया। उन्होंने विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि सनातन धर्म का विरोध करने के लिए ही इंडी एलायंस बना है। पीएम मोदी की विजय शंखनाद रैली कोंड़ातराई हवाई पट्टी ग्राउंड पर हुई। इसकी तैयारी युद्ध स्तर पर की जा रही थी। भारी बारिश के बावजूद करीब डेढ़ लाख लोग आमसभा में पहुंचे। खराब मौसम के कारण पीएम मोदी तय समय से करीब एक घंटा देरी से सभा स्थल पहुंचे।

करीब 11 बजे से ही भीड़ जुटने लगी थी। करीब 15 विधानसभा से लोग पीएम मोदी को देखने पहुंचे थे। भीड़ इतनी थी कि कोंड़ातराई हाईवे पूरी तरह जाम हो गया। जितने लोग गाडिय़ों में थे उससे अधिक पैदल ही सभा स्थल तक जा रहे थे। अपने भाषण की शुरुआत उन्होंने जय जोहार से की। पूरा सभास्थल मोदी-मोदी से गूंज उठा। छत्तीसगढिय़ा अंदाज में उन्होंने लोगों का अभिवादन किया। उन्होंने विपक्षी एकता पर निशाना साधते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की भूमि भगवान श्री राम का ननिहाल है। माता कौशल्या का भव्य मंदिर यहां है। आज देश में सनातन संस्कृति के खिलाफ जो साजिश हो रही है, उसके प्रति आपको जागरूक करना चाहता हूं। जिन लोगों को आप सभी ने पिछले 9 साल से केंद्र सरकार से बाहर कर रखा है, जो लोग लगातार चुनाव हार रहे हैं लोग आपसे इतनी नफरत से भर गए हैं कि उन्होंने सनातन संस्कृति के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है।

सनातन धर्म के विरोध के लिए ही इंडी अलायंस बना है। उन्होंने कहा कि सनातन संस्कृति वह है जिसमें भगवान राम शबरी को मां कहकर उनके झूठे बेरों को खाकर आनंद लेते हैं। सनातन संस्कृति वह है जिसमें भगवान श्री राम वनवासियों को अपने भाई से बढक़र बताते हैं। सनातन संस्कृति वह है जो नाव चलाने वाले केवट को गले से लगाकर स्वीकार करते हैं। सनातन संस्कृति वह है गांधी जी से विवेकानंद तक, अहिल्याबाई होल्कर से लेकर मीराबाई तक हजारों हजार साल तक सभी को प्रेरित कर रही है। सनातन संस्कृति वह है जो संत रविदास और संत कबीर दास को संत शिरोमणि कहकर अपना गौरव बढाती है।

छत्तीसगढ़ की भावना को छुआ

पीएम मोदी ने भाषण की शुरुआत में ही छत्तीसगढिय़ा सबले बढिय़ा नारा लगाया और इसे चंद्रयान से जोड़ा। उन्होंने छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता सेनानियों श्याम लाल सोम और रामदीन गोंड़ का जिक्र करते हुए यहां के लोगों के मन को छुआ। उन्होंने प्रदेश की कांग्रेस सरकार को हमले किए। उन्होंने पीएम आवास में  पके घर नहीं बनने देने का आरोप कांग्रेस सरकार पर लगाया। भ्रष्टाचार को लेकर प्रदेश सरकार के विरुद्ध जमकर निशाना साधा। डीएमएफ में घोटाले का उल्लेख करते हुए सरकार को भ्रष्टाचारी कहा। उन्होंने कहा कि जो सरकार गोबर में भ्रष्टाचार करे, उसकी मानसिकता क्या होगी?

अरुण साव और ओपी ने संभाला मोर्चा

आमसभा की व्यवस्था प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, सह प्रभारी नितिन नबीन, प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और ओपी चौधरी ने संभाली। कार्यक्रम में भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह, केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, पूर्व राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम, प्रदेश उपाध्यक्ष सरला कोसरिया, भूपेंद्र सिंह सवन्नी, सांसद गोमती साय, गुहाराम अजगले, पूर्व मंत्री ननकीराम कंवर, विधायक सौरभ सिंह, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, भाजपा जिला अध्यक्ष उमेश अग्रवाल, महासमुंद जिला अध्यक्ष व पूर्व संसदीय सचिव रूपकुमारी चौधरी, भाजपा प्रत्याशी लखनलाल देवांगन, लैलूंगा विस प्रत्याशी हरीशचंद्र राठिया, खरसिया विस प्रत्याशी महेश साहू आदि उपस्थित थे। मंच संचालन प्रदेश महामंत्री ओपी चौधरी और आभार प्रदर्शन सांसद गोमती साय ने किया।