महाराष्ट्र पुलिस ने 13 साल की एक लड़की से दुष्कर्म और फिर उसका गर्भपात कराने से जुड़े एक मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। यह मामला वर्धा जिले का है। पुलिस ने यहां के एक निजी अस्पताल में कार्यरत एमबीबीएस डॉक्टर औऱ दो नर्सों को 13 साल की इस लड़की का गर्भपात करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि लड़की 5 महीने की गर्भवती थी। लड़की को दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां अभी उसकी हालत स्थिर है।

एक पुलिसकर्मी ने बताया कि इस मामले में लड़की से दुष्कर्म के नाबालिग आरोपी को जुवेनाइल होम में भेजा गया है। 17 साल के आरोपी के माता-पिता को पीड़ित लड़की की मां को धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि बीते 7 जनवरी को कदम अस्पताल में लड़की का गर्भपात किया गया था। 38 साल की चिकित्सक रेखा कदम ने यह गर्भपात किया था। इस अस्पताल के मालिक रेखा कदम के रिश्तेदार हैं। इस गैर-कानूनी काम में रेखा कदम की मदद करने वाली 2 नर्सों पूजा धाट और संगीता काले पर आरोप है कि उन्होंने भ्रूण को ठिकाने लगाया है।

पुलिस का कहना है कि रेखा कदम ने इस ऑपरेशन के लिए 30,000 हजार रुपए लिए थे। ऑपरेशन के बाद भ्रूण को अस्पताल में ही दफन कर दिया गया था। यह मामला उस वक्त उजागर हुआ जब लड़की की मां ने 9 जनवरी को थाने में शिकायत दर्ज करवाई।

12 जनवरी को अस्पताल में पंचनामा हुआ था, जिसके बाद गिरफ्तारियां हुई हैं। महिला ने अपनी शिकायत में कहा था कि उनकी बेटी के साथ 17 साल के लड़के ने दुष्कर्म किया था। लड़के के माता-पिता ने उन्हें धमकी दी थी कि अगर उन्होंने यह बात किसी को बताई तो वो उन्हें जान से मार देंगे।