ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच जारी एशेज सीरीज का आखिरी मैच यानी पांचवां मैच आज यानी शुक्रवार 14 जनवरी से होबार्ट में शुरू हो गया है। पिंक बॉल से खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के सामने इंग्लैंड की टीम ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी। खबर लिखे जाने तक ऑस्ट्रेलिया की टीम ने अपने चार विकेट खो दिए हैं, लेकिन सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात ये है कि सीरीज 3-0 से अपने नाम कर चुकी ऑस्ट्रेलिया ने सिर्फ एक बदलाव किया है, जबकि इंग्लैंड ने आखिरी मैच के लिए अपनी आधी टीम बदल दी है।

ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो सिर्फ ट्रेविस हेड को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया है, जो चौथे मैच में कोरोना संक्रमित पाए जाने के कारण खेल नहीं पाए थे। हालांकि, उनके स्थान पर एशेज सीरीज का चौथा टेस्ट मैच खेलने वाले उस्मान ख्वाजा को ड्रॉप नहीं किया गया है, क्योंकि उन्होंने दोनों पारियों में शतक जड़े थे। ऐसे में उस्मान ख्वाजा को प्लेइंग इलेवन में मैनेजमेंट ने बनाए रखा और उनसे ओपनिंग कराई। यही वजह रही कि पूरी सीरीज में फ्लॉप रहे मार्कस हैरिस को प्लेइंग इलेवन से बाहर किया गया। सीरीज जीत चुकी ऑस्ट्रेलिया की टीम से कुछ खिलाड़ियों को आराम दिया जा सकता था, लेकिन मैनेजमेंट ने ऐसा नहीं किया।

वहीं, अगर इंग्लैंड की बात करें तो मैनेजमेंट और कप्तान को पांच बदलाव करने पड़े। इनमें से दो बदलाव चोट के कारण हुए, जबकि तीन बदलाव खराब प्रदर्शन के कारण किए गए। इंग्लैंड की टीम की ओपनिंग जोड़ी एक बार फिर से बदली गई।  हसीब हमीद के स्थान पर फिर से रोरी बर्न्स को लाया गया है, जबकि चोट के कारण मुकाबले से बाहर हुए विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर की जगह सैम बिलिंग्स को मौका मिला है, जिन्होंने इस मैच के डेब्यू किया है।

तीसरा बदलाव जॉनी बेयरेस्टो के तौर पर हुआ है, जो चोट के चलते इस मुकाबले से बाहर हैं। बेयरेस्टो के स्थान पर टीम में ओली पोप की एंट्री हुई है। ओली पोप इस सीरीज में खेल चुके हैं, लेकिन रनों के लिए उन्होंने संघर्ष किया है। चौथा बदलाव जैक लीच के रूप में हुआ है, जिनके स्थान पर क्रिस वोक्स को प्लेइंग इलेवन में जगह मिली है। पांचवां बदलाव इंग्लैंड की टीम में जेम्स एंडरसन के रूप में हुआ है, जिन्हें आराम दिया गया है और उनकी जगह ओली रॉबिन्सन की वापसी हुई है।