महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा और उत्‍पीड़न को रोकने के लिए आयोजित किए गए एक इवेंट की लाइव रिपोर्टिंग कर रही महिला पत्रकार को ही उत्‍पीड़न का शिकार होना पड़ा.