ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि अगर देश के क्रिकेट प्रशासक कप्तान नियुक्त करने के लिए किसी ऐसे खिलाड़ी की तलाश में है जिसका रिकॉर्ड बेदाग हो तो फिर आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम अगले 15 साल तक बिना कप्तान के रहेगी। टिम पेन ने अपनी सहकर्मी को आपत्तिजनक संदेश भेजने का खुलासा होने के बाद कप्तान पद छोड़ दिया था जिसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया(सीए) को नए कप्तान की तलाश है। तेज गेंदबाज पैट कमिंस कप्तान बनने की दौड़ में सबसे आगे हैं। उनके अलावा पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ भी दौड़ में हैं। क्लार्क ने कहा कि रिकी पोंटिंग भी अपने करियर की गलत शुरुआत के बाद ऑस्ट्रेलियाके सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक बने थे। 

उन्होंने ‘बिग स्पोर्ट्स ब्रेकफास्ट’ में कहा, ‘मेरे समय में यहां तक कि रिकी पोंटिंग बेहतरीन कप्तान रहे हैं। यदि ऐसा मामला होता तो वह कभी ऑस्ट्रेलियाकी कप्तानी नहीं कर पाते। उनका बोरबोन एंड बीफस्टीक (नाइटक्लब) में झगड़ा हुआ। वहां घूंसे चले थे। क्या इस कारण आप उन्हें जिम्मेदारी नहीं सौंपते। वह शानदार उदाहरण हैं। उन्होंने आपको दिखाया है कि कैसे समय, अनुभव, परिपक्वता, उच्च स्तर पर खेलना और यहां तक कि कप्तानी भी उनमें बदलाव लेकर आई।’ क्लार्क ने स्वीकार किया कि आस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान को उच्च मानदंड स्थापित करने की जरूरत होती है लेकिन यदि उससे गैरजरूरी उम्मीदें रखी जाती हैं तो फिर बहुत कम विकल्प बचेंगे।

T20 रैंकिंग में केएल राहुल, मोहम्मद रिजवान और मार्टिन गप्टिल को फायदा, विराट कोहली और रोहित शर्मा टॉप-10 से बाहर

उन्होंने कहा, ‘बेशक, आपको कुछ मानकों को बनाये रखना होगा, लेकिन क्या आप यह कहने जा रहे हैं कि वह बदल सकता है, वह परिपक्व हो सकता है। खिलाड़ियों का समर्थन कहां है? (यदि आप बेदाग कप्तान चाहते हैं) आप 15 साल तक कप्तान की तलाश करोगे। हमारे पास कप्तान नहीं होगा।’ क्लार्क ने कहा कि वह इस बात को लेकर उलझन में हैं कि पेन ने 2017 की घटना को लेकर अपना पद क्यों छोड़ा। उन्होंने कहा, ‘यह बात मेरी समझ में नहीं आई। यदि क्रिकेट ऑस्ट्रेलियाने उससे कहा कि कोई विकल्प नहीं हैं तो उसे कहना चाहिए था कि आप मुझे बर्खास्त कर सकते हैं क्योंकि मैंने चार साल पहले ही आपको यह जानकारी दे दी थी। मैं ईमानदार था और मुझे पाक साफ करार दिया गया था।’