खरसिया। मितानिन दिवस के उपलक्ष्य में ग्राम पंचायत बोतल्दा पंचायत भवन में मितानिन दीदियों व मितानिन सुपरवाइजर दीदियों का शाल श्रीफल देकर किया गया। 23 नवंबर मितानिन दिवस के अवसर पर बोतल्दा के पंचायत भवन ग्राम पंचायत सरपंच धनमत सिदार मार्गदर्शन में अध्यक्षता प्रशांत कुमार सिंह (ब्लॉक नोडल अधिकारी कोरोना) में मितानिनों व मितानिन सुपरवाइजरों का सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

सम्मान कार्यक्रम का मंच संचालन करते हुए प्रधान पाठक भुनेश्वर पटेल ने समाज में मितानिनों व सुपरवाइजरों के अमूल्य योगदानों का स्मरण कराते हुए कहा कि समाज मितानिनों की बहुत ही अहम भूमिका रहती है किसी के स्वास्थ्य संबंधित या कोई अन्य परेशानी हो महिलाएं खुलकर अपनी बात मितानिनों से कह पाती हैं। आकस्मिक प्रसव पीड़ा होने पर डॉक्टर से पहले मितानिन उपस्थित रहती हैं।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रशांत कुमार सिंह ने हाथ जोड़कर सभी मितानिन ओं को प्रणाम करते हुए कहा कि आप सबको योगदान को शब्दों में पिरो पाना संभव ही नहीं है।
करोना काल में विकट परिस्थिति में आप सबका योगदान जीवन पर्यत याद रखा जायेगा क्योंकि जब लॉकडाउन में लोग घरों में थे तब भी आप लोग बाहर निकल कर मरीजों के घर पहुंच उन्हें दवाई उपलब्ध करा रही थी व आज भी टीकाकरण अधिक से अधिक हो इस पर सहयोग कर रही हैं।

कार्यक्रम में उमा भारती राठौर (एसपीएस) ने कहा मितानिनों के अमूल्य योगदान की प्रशंसा करते हुए कहा कि आप लोग अपने घरों के दैनिक कार्य भी करती हैं और जिला प्रशासन के द्वारा दिए गए कार्य को भी निर्धारित समय पर करती हैं ऐसा कर पाना कितना मुश्किल होता है ये मैं भली-भांति समझ सकती हूं आप सब की सेवा में समर्पण व परिश्रम को मैं नमन करती हूं।

शाल श्रीफल सम्मान के कार्यक्रम की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए सरपंच महोदया द्वारा शाल श्रीफल प्रशस्ति प्रमाण पत्र देकर किया।

तत्पश्चात अतिथियों ने क्रमवार शाल श्रीफल देखकर मितानिनों व सुपरवाइजरों का सम्मान किया। मितानिन सम्मान समारोह में आभार प्रदर्शन कार्यक्रम में उपस्थित विशिष्ट अतिथि गौतम पटेल गौठान समिति भुनेश्वर पटेल प्रधान पाठक कार्तिक राम सारथी पंच कीर्तन पटेल पंच कार्यक्रम में प्रमुख रूप से मितानिन व सुपरवाइजर उमा भारती राठौर एसपीएस, सुनीता चौहान एमटी, सुमन वैष्णव मितानिन, सावित्री गवेल मितानिन, श्याम बाई सारथी मितानिन, किरण सारथी मितानिन, ललिता सारथी मितानिन, अमृत बाई मितानिन, तीजकुवंर पटेल मितानिन, धनमत सिदार सरपंच, जितेंद्र पटेल उपसरपंच, शिवनारायण पटेल सचिव व बड़ी संख्या में महिलाओं उपस्थित रही।