रायपुर। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स, कमजोर प्रतिरक्षा-तंत्र वाले नागरिकों (Immuno-compromised) तथा 60 वर्ष से अधिक के लोगों को कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज लगाने के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख एल. मंडाविया से आग्रह किया है। उन्होंने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर इस संबंध में समुचित निर्णय लेते हुए इसे यथाशीघ्र शुरू करवाने का अनुरोध किया है।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि देश-विदेश के विशेषज्ञ इस बात को प्रमाणित कर रहे हैं कि वैक्सीन की दूसरी डोज लगने के बाद भी एंटीबॉडी का स्तर छह से नौ महीने के अंदर कम हो रहा है या उसका असर समाप्त हो रहा है। हांलाकि कुछ मामलों में सुरक्षा का स्तर बना रहता है, फिर भी बूस्टर डोज की आवश्यकता महसूस हो रही है। उन्होंने लिखा है कि दुनिया के अनेक देशों में तीसरी एवं चौथी लहर का प्रभाव देखा जा रहा है।

कई देश अपने नागरिकों को बूस्टर डोज लगा रहे हैं। सिंहदेव ने कोरोना संक्रमण के खतरे को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स, कमजोर प्रतिरक्षा-तंत्र वालों (Immuno-compromised) तथा 60 वर्ष से अधिक के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज की जरूरत को रेखांकित करते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से इस संबंध में जल्दी निर्णय लेने और बूस्टर डोज टीकाकरण के लिए जरूरी निर्देश जारी करने का आग्रह किया है।