सारंगढ़ विधायक एवं जिलाध्यक्ष के आतिथ्य में सरपंच संघ की बैठक संपन्न…

रायगढ़ 20 सितंबर 2021:- बरमकेला के ग्राम लेन्धरा में सरपंच संघ की वृहद बैठक सारंगढ़ जिला को लेकर संपन्न हुई। उक्त बैठक में सारंगढ़ विधायक उत्तरी गणपत जांगड़े एवं जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के जिला अध्यक्ष अरुण मालाकार को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था। साथ ही वरिष्ठ कांग्रेसियों की उपस्थिति में लगभग 65 में से 50 से अधिक सरपंचों ने सारंगढ़ नए जिले में रहने की सहमति जताई और सहमति प्रपत्र में हस्ताक्षर करते हुए अंतिम मुहर लगाई।

गौरतलब है कि सारंगढ़ जिला निर्माण होने के बाद सरिया और बरमकेला के जनप्रतिनिधि कशमकश में थे। वही आज इस कशमकश को विराम लगाते हुए सरपंच संघ जनप्रतिनिधियों और अंचल वासियों एवं लगभग 50 से अधिक सरपंचों ने उपस्थिति देते हुए अपनी राय रखी और सारंगढ़ जिले में ही रहने की सहमति जताते हुए प्रपत्र में हस्ताक्षर किए। कार्यक्रम के शुभारंभ में अतिथियों का स्वागत करते हुए सभी सरपंचों ने क्रमशः अपनी बात रखी। सरपंचों ने स्पष्ट रूप से कहा की सारंगढ़ सुविधा अनुसार हमें नजदीक पड़ेगा पूर्व से ही हम सारंगढ़ में जुड़े थे और वर्तमान में भी हम सारंगढ़ से जुड़े रहना चाहते हैं और वही से जुड़कर ही हम रहेंगे। हमारे लिए रायगढ़ बहुत दूर पड़ेगा।

उक्त सभा में शामिल हुए जन नेता उत्तरी गणपत जांगड़े ने सभी आगंतुक सरपंचों ग्रामीणों और कार्यकर्ताओं का अभिवादन किया और स्पष्ट रूप से कहा कि बरमकेला से मैं हमेशा हृदय से जुड़ी हूँ। यहाँ की जनता, यहाँ के कार्यकर्ता मुझे अति प्रिय हैं। सुनने में जब आया कि बरमकेला के कुछ लोग रायगढ़ सरिया में शामिल होना चाहते हैं, तो मैंने उनसे चर्चा की। दुख तो हो रहा था कि क्या सचमुच यह सभी अलग हो जाएंगे लेकिन यहां आने पर पता चला कि वाकई में कुछ भ्रांतियां हैं, जिसके कारण यह रायगढ़ में जुड़ना चाहते थे। उन भ्रांतियों को दूर किया गया और उनकी अपेक्षा पूछी गई जहां सभी ने एक स्वर, एकमत में सारंगढ़ विधान सभा में रहने की बात कही। आपने मुझे रिकॉर्ड मतों से जिताया या अपना आशीर्वाद दिया। अपनी समस्याओं के निराकरण के लिए मुझे चुना है। मेरे चुनाव में पिता तुल्य स्वर्गीय डॉ शक्राजीत नायक ने प्रचार किया। मुझे आशीर्वाद दिया मैं सभी का सम्मान करती हूँ। सारंगढ़ जिला निर्माण होने पर ऐसा नहीं है की डोंगरीपाली बरमकेला के लोगों को सारंगढ़ से अन्यत्र कहीं और जाना पड़ेगा। बरमकेला की जनता की समस्या मेरी समस्या है, सारंगढ़ से जुड़कर आप सभी को सुविधा और लाभ हर क्षेत्र में मिलेंगा। सारंगढ़ मुख्यालय होगा और सभी आवश्यक विभाग सारंगढ़ में ही होंगे। ऐसा मैं विश्वास दिलाती हूँ

जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष अरुण मालाकार ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि कुछ लोग बरमकेला के जनता को दिग्भ्रमित कर रहे हैं। मैंने तो यहां तक सुना है कि कुछ लोगों के द्वारा धमकी चमकी भी दी जा रही है। यह विधान सभा उत्तरी गणपत जांगड़े का क्षेत्र है, यहां की जनता यहां के कार्यकर्ता हमें अति प्रिय है। अगर इन पर किसी भी प्रकार की आंच आएगी तब मजबूरन हमें इनके साथ खड़ा होना पड़ेगा और विधायक ही नहीं पूरा जिला कांग्रेस कमेटी इनके साथ खड़ा है।

प्रखर वक्ता वरिष्ठ कांग्रेसी विधान सभा बूथ संयोजक सूरज तिवारी ने सभी को नमन करते हुए कहा कि जिन्होंने ऐसा षड्यंत्र रचा है और बरमकेला में जो गलत भम्र फैलाया है वे अब जनता के सामने एक्सपोज हो चुके हैं। बरमकेला की जनता को गुमराह किया जा रहा है। यहां के कुछ जनप्रतिनिधियों को डराया जा रहा है, जब भाजपाइयों ने यह देख लिया कि सारंगढ़ विधान सभा जिला बनने के बाद सारंगढ़ सीट हाथ से निकल रही है तो उन्होंने ऐसा षड्यंत्र रचा है और इस षड्यंत्र में यदि हमारे कुछ नेता व कार्यकर्ता भी शामिल है तो यह हम सब के लिए दुख का विषय है। बरमकेला और डोंगरीपाली जैसे वनांचल क्षेत्र के लोग हमें अति प्रिय हैं और उनकी समस्या हमारी समस्या है। भूपेश बघेल ने बरमकेला को कॉलेज दिया। डोंगरीपाली में नए कॉलेज की घोषणा की। यहां निर्माण कार्यों में पूर्व की अपेक्षा करोड़ो राशि के बृहद कार्य हो रहे हैं। विधायक का दौरा और निरंतर जनसंपर्क भी जारी है, सारंगढ़ जिला निर्माण होने के पश्चात सबसे ज्यादा विकास बरमकेला डोगरीपाली अंचल का होना तय है।

जिला पंचायत सदस्य विलास सारथी ने वहां उपस्थित महिला एवं सरपंचों से एक स्वर में पूछा कि आप कहां रहना चाहते हैं सभी ने सारंगढ़ जिला में रहने पर सहमति जताई विराज सारथी ने कहा कि हमारे मुखिया भूपेश बघेल ने बरमकेला के विकास में कॉलेज की सौगात दी करोड़ों रुपए के निर्माण कार्य निरंतर जारी कर रहे हैं हमें सारंगढ़ नजदीक पड़ेगा सारंगढ़ मुख्यालय होगा हम सब सारंगढ़ जिला में ही रहना चाहते हैं।

जिला कांग्रेस के सचिव जनपद उपाध्यक्ष गणपत जांगड़े ने कहां की शहीद नंदकुमार पटेल, स्वर्गीय डॉ शक्राजीत नायक ने सारंगढ़ को जिला निर्माण करने का सपना देखा था, हमारे कार्यकाल में एक माध्यम के तौर पर यह मांग बलवती हुई उमेश पटेल के प्रयास और भूपेश बघेल प्रबल इच्छाशक्ति ने सारंगढ़ को नया जिला बनाया।

आप सभी ने मिलकर राजधानी सीएम निवास पहुंच कर भूपेश को साधुवाद दिया था। हर कार्यक्रम में आपने सारंगढ़ जिला निर्माण करने की मांग रखी थी और आप की मांग को भूपेश ने पूरा किया। आप निर्णय लेने मैं स्वतंत्र है। सारंगढ़ जिले में रहने से हर स्तर में आपको लाभ है। कोई भी यदि आप को डराते धमकाते हैं तो आज के बाद मैं तटस्थ होकर आपके साथ खड़ा हूँ। हमें आप सभी ने 52 हजार मतों से विजयी बनाया है जिसका मैं जन्म जन्मांतर तक ऋणी हूँ। आपकी सेवा के लिए ही आपने हमें चुना है कोई भी अधिकारी या अन्य लोग आपको परेशान करते हैं तो आप सीधे विधायक को बताइए। आपको किसी सहारे की आवश्यकता नहीं है। हम सभी का सम्मान करते हैं आप सभी ने सारंगढ़ में रहने की इच्छा जाहिर की है, जिसका मैं सम्मान करता हूँ।

मंच को उद्बोधित कर पूर्व सरिया ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेश देहरी विधायक प्रतिनिधि कन्हैया सारथी, जनपद सदस्य प्रति घनश्याम इदारदार, ठाकुर राम पटेल, प्रफुल्ल महानंदा, गुड्डू सारथी, डॉ गोपाल प्रसाद बाघे प्रवक्ता जिला कांग्रेस कमेटी के साथ दर्जनों सरपंच और जनपद सदस्यों ने खुले मंच में सारंगढ़ जिले में रहने की इच्छा जाहिर करते हुए प्रपत्र में हस्ताक्षर किए।

उक्त अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष गंगा चौधरी, जिला महामंत्री महेश देहरी, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ताराचंद पटेल, नीलांबर नायक, सालिक राम नायक, कन्हैया सारथी जनपद विधायक प्रतिनिधि, गोपी नायक, सम्पत, नित्यानंद पटेल, डिंगरो बरिहा, मनोहर नायक, बिशीकेशन चौहान खेमानन्द सारथी, किरण पटेल, सुशील पटेल, गुड्डू सारथी, बंटी साहू, शर्मा, इज़ारदार पार्षद,अप्पू पुजारी भवानी इज़ारदार, पवन नायक, नोबेल पटेल, श्रीमंत भोई, धर्मेंद्र चौहान, सत्या, सदस्य सरपंच के साथ ग्रामीण जन भी शामिल रहे।