नई दिल्ली: न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने रावलपिंडी में पाकिस्तान के खिलाफ पहला वनडे शुरू होने से ठीक पहले दौरे को रद्द करने का फैसला किया. मैच शुरू होने से ठीक पहले 5 मिनट पहले ये फैसला लिया किया, जिसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से करार झटका लगा. सुरक्षा करणों के चलते ये फैसला लिया गया था. अब इसी खबर पर एक बड़ा खुलासा हुआ है.

न्यूजीलैंड टीम को मिली थी हमले की जानकारी

मैच शुरू होने से पहले 5 देशों की सुरक्षा एजेंसियों ने हमले की जानकारी दी थी. इसमें न्यूजीलैंड, कनाडा, यूएसए, यूके और ऑस्ट्रेलिया का नाम शामिल है. इन एजेंसियों ने बता था कि इस सीरीज को लेकर कुछ धमकी मिली थी जिसके बाद दोनों देशों की सरकार की आपसी सहमति से इसे कैंसिल करवा दिया गया.

NZ Herald में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक मैच शुरू होने से पहले मैच से पहले न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच एक लंबी बात चली जिसके बाद इस वनडे और टी-20 दौरे को रद्द करने का फैसला किया गया.न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री का यह कहना था कि उनके सभी सुरक्षा एजेंसियों ने यह आगाह किया था कि अगर कीवी टीम होटल से बाहर एक भी कदम रखेगी तो उनके ऊपर हमला हो सकता है.

पाक ने इसे बताया था एक अंतरराष्ट्रीय साजिश!

इस्लामाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अहमद ने कहा कि वह साजिशकर्ताओं का नाम नहीं लेंगे. हालांकि, उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में जो कुछ हो रहा है, उसके बाद कुछ ताकतें पाकिस्तान को बलि का बकरा बनाना चाहती हैं. जियो टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, किवी टीम द्वारा पाकिस्तान दौरा रद्द करने के कुछ घंटे बाद अहमद ने कहा, न्यूजीलैंड के अधिकारियों के पास पाकिस्तान में खतरे का ठोस सबूत नहीं है.

न्यूजीलैंड का एकतरफा फैसला: अहमद

अहमद ने कहा कि मेहमान टीम के लिए देश में कड़े सुरक्षा के इंतजामों के बावजूद न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान दौरा रद्द करने का एकतरफा फैसला किया. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के एक बयान में कहा गया है कि न्यूजीलैंड क्रिकेट ने सुरक्षा अलर्ट का हवाला देते हुए पाकिस्तान के दौरे को रद्द करने के फैसला किया है. पीसीबी ने कहा, आज न्यूजीलैंड क्रिकेट ने हमें सूचित किया कि उन्हें कुछ सुरक्षा अलर्ट के लिए सतर्क कर दिया गया है जिसके चलते उन्होंने एकतरफा सीरीज को स्थगित करने का फैसला किया है.