टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए रिकॉर्ड पांच गोल्ड सहित 19 मेडल जीते हैं। पैरालंपिक खेलों में यह भारत का अब तक का बेस्ट प्रदर्शन है। पैरालंपिक दल का वतन वापसी होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जापान में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों से मुलाकात की और उनके साथ बातचीत भी की। मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने खिलाड़ियों को जीत की बधाई दी और साथ ही उनका मनोबल भी बढ़ाया। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों से कहा कि मुझे आप सभी से प्रेरणा मिलती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर पर जारी वीडियो में पीएम पैरा एथलीट खिलाड़ियों के साथ बातचीत करते हुए नजर आ रहे हैं और साथ ही उनका हौसला भी बढ़ा रहे हैं। दिल्ली में अपने आवास पर खिलाड़ियों के साथ बातचीत के दौरान मोदी ने कहा, ‘ आज आप सभी अपनी कड़ी मेहनत के कारण जाने जाते हैं। आप सभी लोगों को प्रेरित कर सकते हैं, बड़े बदलाव लाने में मदद कर सकते हैं। मैं हमेशा आप सभी के साथ हूं।’ गोल्ड जीतने वाले कृष्णा नागर ने कहा कि उन्होंने अपना पदक कोरोना योद्धाओं को समर्पित किया है, जिन्होंने देश को महामारी से बचाने के लिए सर्वस्व झोंक दिया।

मोदी ने इस दौरान टोक्यो पैरालंपिक सिल्वर मेडलिस्ट सुहास एलवाई से भी कुछ देर तक बात की। उनके अलावा ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले बैडमिंटन खिलाड़ी मनोज सरकार ने पीएम से कहा, जब टोक्यो में हुई बात में आपने पहले ही बता दिया कि वो देवभूमि उत्तराखंड से हैं, तो उनके रोंगटे खड़े हो गए. यह मेरे लिए गर्व का क्षण था।’ प्रधानमंत्री ने इसके अलावा गोल्ड मेडलिस्ट भविना पटेल को हमेशा सकारात्मक सोचने की सलाह दी।

प्रधानमंत्री ने इससे पहले, पिछले सप्ताह भी पैरालम्पिक दल को अपने आवास पर नाश्ते पर बुलाकर उन्हें सम्मानित किया था और खिलाड़ियों ने उन्हें अपने हस्ताक्षर वाला एक स्टोल भेंट किया था। भारत पदक तालिका में 24वें स्थान पर रहा। पिछले सप्ताह मुलाकात के दौरान सभी पदक विजेताओं ने अपने हस्ताक्षर वाला सफेद स्टोल प्रधानमंत्री को भेंट किया जो उन्होंने गले में पहन रखा था। भारत ने इस बार टोक्यो पैरालंपिक खेलों में अपना सबसे बड़ा 54 एथलीट का दल उतारा था, जिसने शानदार प्रदर्शन करते हुए रिकॉर्ड 19 मेडल जीते। इन 19 पदकों में 5 गोल्ड, 8 सिल्वर और 6 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं।