तलाक के बाद जिंदगी काफी बदल जाती है, खासकर इमोशनली इंसान काफी बदल जाता है। आप हर दिन खुद से लड़ते हुए फिर से जिंदगी को पटरी पर लाने की कोशिश करते हैं। धीरे-धीरे आपकी कोशिशें कामयाब होती है और एक दिन जब आप ट्रैक पर वापस आ जाते हैं। ऐसे में आपको पुराने अनुभवों को पीछे छोड़ते हुए जिंदगी में एक बार फिर से प्यार को जगह जरूर देनी चाहिए। तलाक के बाद अगर आप डेट करने की सोच रहे हैं, तो आपको कुछ टिप्स फॉलो करने चाहिए-

ईमानदारी 
किसी भी रिश्ते की शुरूआत ईमानदारी यानी सच्चाई के साथ होती है। अपने बीते कल के बारे में आपको हमेशा सच बोलना चाहिए। अपने बारे में कुछ भी झूठ न बोलें। आपका राइट पार्टनर हमेशा आपके सच को स्वीकार करेगा और अगर आपके सच से किसी को परेशानी है, तो फिर आपको रिश्ते को आगे नहीं बढ़ाना चाहिए। किसी एक डेट के लिए खुद को न बदलें।

डेटिंग का मतलब हमेशा शादी नहीं 
सबसे पहले पुरानी बातों और कहावतों पर ध्यान न दें, इसलिए हर प्यार शादी पर खत्म हो जाएगा यह जरूरी नहीं है। आपको डेटिंग करते हुए इंसान को समझना है। आप शादी करने के लिए डेटिंग नहीं कर रहे, इसलिए इस बात को दिमाग से निकाल दें। डेटिंग का मतलब हमेशा शादी नहीं होता। आपको अगर लगे कि जिसके साथ आप डेटिंग कर रहे हैं, वह इंसान आपके साथ लाइफ में आगे बढ़ सकता है, तभी शादी के बारे में सोचें।

आप क्या चाहते हैं?
आपको पता होना चाहिए कि आप किसी रिश्ते से क्या चाहते हैं और इसके बारे में क्लियर रहें। किसी ऐसे व्यक्ति के साथ अपना समय बर्बाद न करें, जिसे आप जानते हैं कि आपके लिए नहीं है और आप उसके साथ रिश्ता आगे नहीं बढ़ा पाएंगे।

थेरेपी 
जब आप तलाक से बाहर आते हैं, तो इसका मतलब यह होता है कि आपने कई बुरे दिनों देखा और इमोशन्स को महसूस किया होगा। ऐसे में आपके इमोशन्स काफी उथल-पुथल भी होते रहते हैं। ऐसे में आपको अगर मेंटल थेरेपी की जरूरत महसूस होती है, तो आपको बेझिझक इसे लेना चाहिए।