हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स या जांघ के पिछले हिस्से में दर्द और ऐंठन आज के समस्या में लोगों में बहुत आम समस्या है। खेलकूद, चलने-फिरने या दौड़ने के बाद तमाम लोगों में यह समस्या देखी जाती है। इसके अलावा कई लोगों को यह समस्या बिना किसी शारीरिक गतिविधि में भाग लिए ही हो सकती है। हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स में जांघ के पिछले हिस्से में दर्द, ऐंठन और जकड़न हो सकती है। इस समस्या में हैमस्ट्रिंग मांसपेशी अनायास सिकुड़ जाती है या कास जाती है जिसकी वजह से उस स्थान पर गांठ भी बन सकती है। यह एक मांसपेशियों से जुड़ी समस्या है लेकिन इसके सटीक कारण के बारे में अभी तक पता नहीं चल पाया है। इस समस्या के पीछे डिहाइड्रेशन या मांसपेशियों में खिंचाव या चोट आदि कई कारण हो सकते हैं। आइये विस्तार से जानते हैं हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स के कारण, लक्षण और बचाव के बारे में।

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स के कारण (What Causes Hamstring Cramps?)

(image source – shutterstock.com)

जांघ के पिछले हिस्से की मांसपेशियों में ऐंठन या दर्द की समस्या को हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स कहते हैं। ज्यादातर लोगों को यह समस्या रात में सोते हुए होती है। इन मामलों को इडियोपैथिक माना जाता है जिसका मतलब यह होता है कि एक्सपर्ट्स या डॉक्टर हमेशा इस समस्या के लिए किसी विशेष कारण को जिम्मेदार नहीं मानते हैं। यह समस्या कई कारणों से हो सकती है। आइये जानते हैं हैमस्ट्रिंग क्रैम्प के संभावित कारणों के बारे में।

  • मांसपेशियों में तनाव के कारण हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स की समस्या।
  • व्यायाम या दौड़ लगाने के बाद शरीर में पानी की कमी या डिहाइड्रेशन के कारण हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स।
  • शरीर में खनिजों की कमी से हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स की समस्या।
  • इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी की वजह से हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स।
  • बढ़ती उम्र में मांसपेशियों की कमजोरी के कारण।
  • मधुमेह, यकृत विकार, तंत्रिका संपीड़न और थायरॉयड आदि के कारण।
  • गर्भावस्था में हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स।
इसे भी पढ़ें : 
मांसपेशियों में दर्द हो सकता है कई बीमारियों का संकेत, लक्षणों से पहचानकर कराएं सही इलाज
 Hamstring-Cramps-Causes-Symptoms-Prevention
(image source – shutterstock.com)

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स के लक्षण (Hamstring Cramps Symptoms)

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स यानी जांघ के पिछले हिस्से की मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द की समस्या कभी भी और किसी को भी हो सकती है। इसकी वजह से आपको जांघों के पिछले हिस्से में जकड़न महसूस होती है जिसके बाद धीरे-धीरे ऐंठन और दर्द शुरू हो सकता है। इस समस्या में आपको जांघ के पिछले हिस्से की मांसपेशियों में एक गांठ भी दिखाई दे सकती है। ज्यादातर लोगों को यह समस्या रात को सोते समय होती है और कुछ सेकंड्स से लेकर 10 मिनट तक आपको दर्द या ऐंठन हो सकती है। जिसके बाद यह दर्द अपने आप ठीक हो जाता है और कुछ समय फिर शुरू हो सकता है। हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स की समस्या में दिखने वाले प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं।

  • पैरों में सूजन और लालिमा।
  • जांघ के पिछले हिस्से की मांसपेशियों में गांठ।
  • हैमस्ट्रिंग पेशियों में ऐंठन, दर्द और जकड़न।
  • शरीर में पोटेशियम, मैग्नीशियम, या कैल्शियम की कमी।
  • घुटनों को सीधा करने में परेशानी।
  • हैमस्ट्रिंग स्ट्रेन की समस्या का होना।
  • कुछ देर बाद दर्द और ऐंठन का खत्म होना और शुरू होना।
इसे भी पढ़ें : 
क्या आपके पैर और टांगों में अक्सर रहता है दर्द? कहीं इसका कारण कमर या हिप्स की परेशानी तो नहीं?

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स का इलाज (Hamstring Cramps Treatment)

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स की शुरुआत में आप इस समस्या का इलाज खुद से भी कर सकते हैं। शुरुआत में इसके लक्षण दिखने पर आप कुछ सामान्य उपायों से इसके दर्द, ऐंठन को खत्म कर सकते हैं। लेकिन अगर यह समस्या ज्यादा गंभीर हो रही हो तो इसके इलाज के लिए चिकित्सक की सलाह जरूर लेनी चाहिए। हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स की समस्या में चिकित्सक आपको स्ट्रेचिंग करने और मसाज आदि की सलाह दे सकते हैं। इसके अलावा गंभीर मामलों में हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स के कारणों को दूर करने के लिए इलाज किया जा सकता है। शरीर में खनिजों की कमी को पूरा करने के लिए आपको कुछ सप्प्लीमेंट्स का सेवन भी करना पड़ सकता है।

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स से बचाव के टिप्स (Hamstring Cramps Prevention Tips)

  • इस समस्या में बचाव के लिए आप इन बातों को ध्यान में जरूर रखें।
  • हमेशा व्यायाम के बाद खुद हाइड्रेट करें और इस दौरान खुद हो हाइड्रेट जरूर रखें।
  • शरीर में खनिजों या इलेक्ट्रोलाइट्स कमी न होने दें।
  • एक्सरसाइज करने से पहले वार्मअप जरूर करें।
  • रोजाना स्ट्रेचिंग का अभ्यास करें।
  • संतुलित भोजन लें।
 Hamstring-Cramps-Causes-Symptoms-Prevention
(image source – shutterstock.com)
इसे भी पढ़ें : 
देर तक बैठे रहने से हिप्स हो जाते हैं सुन्न तो आपको हो सकता है ‘डेड बट सिंड्रोम’, जाने बचाव के टिप्स

हैमस्ट्रिंग क्रैम्प्स की समस्या बढ़ने या गंभीर होने पर आप चिकित्सक की सलाह जरूर लें। बचाव के लिए ऊपर बताई गयी टिप्स आपके लिए उपयोगी हो सकती है लेकिन गंभीर स्थितियों में डॉक्टर की सलाह के अनुसार इलाज कराना बहुत जरूरी होता है। इस समस्या को नजरअंदाज करने से आपको आगे चलकर कई अन्य गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

(main image source – shutterstock.com)

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi