आपने ताजे बेर तो खूब खाएं होंगे पर क्‍या आपको पता है बेर के पत्‍तों का भी सेवन क‍िया जाता है। बेर के पत्‍तों में औषध‍िय गुण होते हैं इससे शरीर की कई समस्‍याएं और रोग दूर क‍िए जाते हैं। बेर के पत्‍ते के रस से वजन भी कम होता है। बेर के पत्‍ते का रस गले में खराश, यूर‍िन के दौरान होने वाली जलन, शरीर की जलन आद‍ि समस्‍याओं को दूर करने में फायदेमंद माना जाता है। आप बेर के पत्‍ते का रस लेप के तौर पर, काढ़े के फॉर्म में, गुनगुने पानी में म‍िलाकर पी सकते हैं। इस लेख में हम बेर के पत्‍ते के फायदों पर चर्चा करेंगे और उसे इस्‍तेमाल करने का तरीका जानेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

(image source:amazon.com)

1. वजन कम करना है तो इस्‍तेमाल करें बेर का पत्‍ता (Weight loss)

अगर आप वजन कम करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो बेर के पत्‍ते का इस्‍तेमाल करें। बेर के पत्‍ते से वजन तेजी से घटता है। वजन कम करने के ल‍िए आप बेर के पत्‍ते के पानी का सेवन करें। बेर के पत्‍ते को रातभर के ल‍िए पानी में भ‍िगोकर रख दें, सुबह इस पानी को खाली पेट पीएं तो आपको फायेदा होगा। आपको एक महीने तक इस पानी का सेवन करना चाह‍िए, आपको फर्क दो हफ्तों में नजर आने लगेगा।

इसे भी पढ़ें- सूखे बेर खाना भी सेहत के लिए है बहुत फायदेमंद, जानें इससे मिलने वाले 6 जबरदस्त फायदे

2. यूर‍िन में जलन होने पर इस्‍तेमाल करें बेर का पत्‍ता (Burning in urine)

अगर आपको पेशाब करने में जलन हो रही है तो आपको बेर के पत्‍तों का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए, इससे पेशाब के दौरान होने वाली जलन से राहत म‍िलती है। बेर के पत्‍ते का रस न‍िकालकर आप उसमें भुना हुआ जीरा म‍िलाएं और गुनगुने पानी में म‍िलाकर उस पानी को पी लें। मह‍िलाएं भी यूटीआई की समस्‍या के दौरान इसका सेवन कर सकती हैं।

3. गले में खराश की समस्‍या दूर करता है बेर का पत्‍ता (Sore throat)

ber ke patte

(image source:khetibiz.com)

अगर आपके गले में खराश की समस्‍या है तो आपको बेर के पत्‍ते का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। बेर के पत्‍ते के रस का सेवन करने से गले की खराश दूर होती है। आपको बेर के पत्‍ते का रस न‍िकालकर उसे गुनगुने पानी में म‍िलाना है और काली मिर्च डालकर सुबह-शाम उसका सेवन करना है इससे गले में मौजद कफ साफ होगा और गले को आराम म‍िलेगा।

इसे भी पढ़ें- औषधीय गुणों से भरपूर है बेर, जानें बेर खाने के 9 फायदे और नुकसान

4. शरीर में होने वाली जलन को दूर करता है बेर का पत्‍ता (Burning in body)

शरीर में जलन की समस्‍या की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए आप बेर का पत्‍ता इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बेर के पत्‍तों को पीसकर आप उसका लेप बना लें और त्‍वचा पर लगाएं तो जलन ठीक हो जाएगी, अक्‍सर घाव या चोट लगने पर दर्द या जलन को कम करने के ल‍िए इस लेप का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। आप चाहें तो लेप में हल्‍दी भी म‍िला सकते हैं। कटी या जली त्‍वचा को ठीक करने में भी बेर के पत्‍ते का लेप फायदेमंद माना जाता है।

5. आंख में फुंसी को ठीक करता है बेर का पत्‍ता (Pimple inside eye)

आंख में फुंसी होने पर आप बेर के पत्‍ते का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आंख में गुहेरी या फुंसी होने पर आंख में तेज जलन, दर्द या सूजन की श‍िकायत होती है। इस समस्‍या को दूर करने के ल‍िए आप बेर के पत्‍ते का रस आंख के बाहरी ह‍िस्‍से में लगाएं ज‍िससे दर्द कम हो। बेर के पत्‍ते का रस डायरेक्‍ट आंख के अंदर डालने की सलाह डॉक्‍टर नहीं देते इसल‍िए आप रस को कॉटन बॉल की मदद से लगाएं।

अगर आपको बेर के पत्‍ते से एलर्जी है या क‍िसी गंभीर बीमारी के रोगी हैं तो इसका इस्‍तेमाल डॉक्‍टर की सलाह के बगैर न करें।

(main image source:samachar.com,en.wtf)

Read more on Home Remedies in Hindi