सरगुजा। जिले के लखनपुर क्षेत्र में हाथी और भालुओं के बाद मधुमक्खियों का आतंक जारी है। मधुमक्खियों के काटने से एक महिला की मौत हो गई। टेंपो में महिला के शव को लेकर आज दिन भर पीएम कराने परिजन भटकते रहे। मामला लखनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बगदर्री का है। जहां 13 सितंबर की शाम 5.30 बजे 55 वर्षीय संकलिया पति झिंगल राम अपने खेत धान की फसल देखने गए हुई थी, इसी दौरान मधुमक्खियों के झुंड ने महिला पर हमला कर दिया।

घायल महिला को लखनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया था। जहां उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने उपचार के लिए जिला अस्पताल रेफर किया था। उपचार के दौरान रात में 55 वर्षीय महिला संकलिया की मौत हो गई। मृतक महिला के परिजनों ने बताया कि उन्हें मौत की सूचना स्वास्थ्य विभाग ने न उन्हें दी और न ही पुलिस को। यही नहीं शव का पीएम कराना भी जरूरी नहीं समझा। जिसके बाद परिजन महिला के शव को टेम्पो में लेकर पीएम कराने 14 सितंबर की सुबह लखनपुर थाना पहुंचे।

लखनपुर पुलिस ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ से संपर्क कर पीएम कराना चाहा, परंतु बीएमओ ने पीएम जिला चिकित्सालय में कराए जाने की बात कही। लखनपुर पुलिस के द्वारा शव का पीएम कराने वाहन के माध्यम से अंबिकापुर जिला चिकित्सालय भेजा है। इस संबंध में जब मृतक महिला के परिजनों से बात की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि उपचार के दौरान मौत के बाद अस्पताल के स्टाफ के द्वारा शव को ले जाने के लिए कहा गया, जिसके बाद शव का पीएम कराने लखनपुर थाने पहुंचे हुए थे, जहां पुलिस वालों ने शव को पीएम के लिए जिला चिकित्सालय अंबिकापुर भेजा है।

लखनपुर थाने के सहायक उपनिरीक्षक नवल किशोर दुबे के द्वारा बताया गया कि मधुमक्खियों के काटने उपरांत जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई थी। परिजनों के द्वारा मौत की सूचना अंबिकापुर पुलिस को नहीं दी गई। महिला के शव को घर लाया गया। मृतिका महिला के परिजनों को किसी ने बताया कि शासन द्वारा मिलने वाली आकस्मिक मृत्यु होने उपरांत मुआवजा नहीं दिया जाएगा, जिसके बाद महिला के शव को लेकर परिजन लखनपुर थाने पहुंचे, जहां उन्हें समझाइश देकर शव का पीएम कराने जिला चिकित्सालय अंबिकापुर भेजा गया है।